लखनऊ के सरोजनीनगर में ड्यूटी पर एक वाहन की टक्कर लगने से पीएसी का एक जवान घायल हो गया। वह सड़क पर खून से लथपथ पड़ा था। इसी बीच वहां से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का काफिला गुजरा। मुख्यमंत्री ने भीड़ देखकर मुख्य सुरक्षा अधिकारी से जानकारी लेने को कहा। 

अधिकारी ने सिपाही के घायल होने के बारे में बताया तो मुख्यमंत्री ने अपनी फ्लीट की एम्बुलेंस के साथ सुरक्षा अधिकारी को घायल सिपाही की मदद के लिये वहीं रोक दिया। फिर इस एम्बुलेंस से ही लोकबंधु अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई।

प्रयागराज सराय इनायत निवासी लल्लू प्रसाद यादव 35वीं वाहिनी पीएसी में कार्यरत थे। उनकी ड्यूटी वीआईपी चौराहे के पास थी। शाम 7.10 बजे करीब बेकाबू वाहन ने लल्लू यादव को टक्कर मार दी थी। हादसे के बाद 7.18 बजे मुख्यमंत्री मथुरा से लौट कर पांच कालिदास मार्ग की तरफ जा रहे थे। उनकी फ्लीट वीआईपी चौराहे के पास से गुजर रही थी। 

तभी भीड़ दिखने पर उन्होंने जानकारी ली थी। डीसीपी मध्य डॉ. ख्याति गर्ग के मुताबिक पीएसी कर्मी लल्लू यादव को एंबुलेंस से लोकबंधु अस्पताल ले जाया गया था। शरीर पर लगी गम्भीर चोटों के कारण सिपाही लल्लू यादव की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि घटनास्थल के पास लगे सीसी कैमरों की फुटेज की मदद से सिपाही को टक्कर मार कर भागने वाले वाहन को पुलिस तलाश रही है।