उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन के पावन पर्व पर लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पांच कालीदास मार्ग में नन्हीं-मुन्नी बहनों संग मुलाकात की और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएँ दीं। इसके साथ ही योगी ने देश-प्रदेश के बच्चों को हर सहायता प्रदान करने के लिए आश्वस्त किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ भी दीं। 

यह भी पढ़े : Surya Gochar 2022: 17 अगस्त से स्वराशि सिंह में प्रवेश करेंगे सूर्य, इन राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन

यह जानकारी देश के पहले बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, कू ऐप के अपने आधिकारिक हैंडल, मुख्यमंत्री कार्यालय, उत्तर प्रदेश के माध्यम से दी गई है। साथ ही बच्चियों के साथ मुलाकात की बेहद खूबसूरत तस्वीरें भी साझा की गई हैं। पोस्ट के माध्यम से कहा गया है:

यह भी पढ़े : Shani Mahadasha Upay: शनि की साढ़े साती और महादशा का प्रभाव कम करने के लिए करें ये उपाय


#UPCM @myogiadityanath से आज रक्षाबंधन के पावन पर्व के अवसर पर जनपद लखनऊ स्थित उनके सरकारी आवास पर बच्चियों ने भेंट की।

मुख्यमंत्री जी ने बच्चियों को उज्ज्वल भविष्य हेतु शुभकामनाएं दीं एवं @UPGovt की ओर से देश व प्रदेश के भविष्य बच्चों को हर सहायता प्रदान करने के लिए आश्वस्त किया।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने भी एक खूबसूरत पोस्ट साझा की है, जिसके माध्यम से उन्होंने कहा है:

यह भी पढ़े : रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2022: आज उदया तिथि में पूरे दिन बांधी जा सकेगी राखी


स्नेह पर्व रक्षाबंधन के पावन अवसर पर बच्चों के साथ...

पूरे प्रदेश में बहनों को दिया राखी का विशेष तोहफा 

विभागीय जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री के आदेश पर 11 और 12 अगस्त को पूरे प्रदेश में कहीं भी आने-जाने के लिए यूपी रोडवेज की बसें पूरी तरह लगी हुई हैं। योगी द्वारा सभी बसों में बहनों के लिए फ्री यात्रा की अनुमति प्रदान की गई है। यही नहीं सरकार ने ये आदेश भी जारी किए हैं कि यदि किसी बहन को यात्रा में कोई परेशानी हुई, तो उसके लिए संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे। इसलिए पूरी तरह से सुरक्षित यात्रा के लिए गारंटी की बात भी आदेश में कही गई है। इसके अलावा रोडवेज बसों के स्टाफ जैसे ड्राइवर और कंडक्टर की छुट्टी कैंसल कर दी गई है। 11 और 12 अगस्त को कोई भी ड्राइवर-कंडक्टर छुट्टी पर नहीं रहेगा, ताकि कोई भी बस खड़ी न रहे। 

बता दें कि पिछली बार बसों में मुफ्त यात्रा वाली सुविधा को महज 24 घंटों के लिए दिया गया था। लगभग साढ़े तीन लाख महिलाओं ने इसका लाभ उठाया था। लेकिन इस बार 48 घंटों के लिए यूपी में बस यात्रा को बहनों के लिए मुफ्त किया गया है।