उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Cm Yogi Adityanath) ने कहा कि पहले की सरकार में और अब की सरकार में फर्क साफ है। पिछली सरकार में हम पर्व और त्यौहार नहीं मना सकते थे, दंगे होते थे। मुख्यमंत्री योगी बुधवार को सोनभद्र में आयोजित कार्यक्रम में जिलेवासियों को 514 करोड़ रुपय की सौगात दी। 250 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास एवं 79 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। भाजपा की जन विश्वास यात्रा में शामिल होने के बाद जनसभा को संबोधित किया।

उन्होंने (Cm Yogi Adityanath) कहा कि याद करिए पिछली सरकार में हम पर्व और त्यौहार नहीं मना सकते थे, दंगे होते थे। कांवड यात्रा (kanwar yatra) नहीं निकलने दी जाती थी, दुर्गा पूजा नहीं हो सकती थी। लेकिन अब तो दंगाइयों को जहां पहुंचाना था, वहां पहुचा दिया गया है। हमारी सरकार ने फैसला किया है कि अन्त्योदय कार्ड धारकों (antyodaya card holder) को महीने में दो बार मुफ्त राशन दिया जाएगा। इसके साथ ही रेहड़ी दुकानदार हों, मजदूर हों, रिक्शा चालक हों, सभी को हर महीने पांच सौ रुपये दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सोनभद्र (Yogi Rally in Sonbhadra) में प्राकृतिक संसाधनों का भंडार होने के बावजूद यह इलाका हमेशा पिछड़ा रहा। इसका कारण सपा सरकार में माफियाओं का राज था। जिससे पानी तक के लिए यहां की महिलाएं प्यासी रह जाती थीं। जो जिला बिजली उत्पादन में नम्बर वन था वह हमेशा अंधेरे में ही रहता था। लेकिन हमारी सरकार के आते ही यहां की दशा और दिशा बदली है। जहां एक तरफ साफ पानी के लिए नल योजना लागू की गई, तो आज सोनभद्र में 500 करोड़ की लागत से बनने वाले 500 बेड वाले मेडिकल कालेज का शिलान्यास किया गया है। डबल इंजन की सरकार यहां के लोगों को हताश नहीं होने देगी।

उन्होंने कहा कि जब सरकार जनविश्वास पर खरी उतरती है तो जन विश्वास यात्रा का मजा दोगुना हो जाता है। पिछली सरकारों की अराजकता का जवाब देने के लिए यह यात्रा निकाली जा रही है। कहा कि इसी कड़ी में मजदूर, श्रमिक, कुली, पल्लेदार और रेडी वाले वह चाहे पंजीकृत हों या न हों, इन्हें 500 रुपये हमारी सरकार उपलब्ध कराने जा रही है। सरकार ने यह भी तय किया है कि विधवा पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन में अब दोगुना राशि मिलेगी। दिव्यांग लोगों को किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े, इसके लिए उनकी पेंशन में पहले 300 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये किया था, लेकिन अब इसे फिर बढ़ाकर एक हजार रुपये कर दिया गया है। योगी ने कहा कि आशावर्कर, आंगनबाड़ी, एएनएम, ग्रामप्रधान, पंचायत सदस्यों ने कोरोना महामारी में अच्छा कार्य किया है। इनके मानदेय में भी बढ़ोत्तरी की गई है।