मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसानों को लेकर एक प्लान तैयार कर रहे हैं। जिससे प्रदर्शनकारी किसान शांत हो जाए। सीएम शिवराज ने कहा है कि “किसान फसलों का विविधिकरण करें क्योंकि केवल गेहूं, चना, सोयाबिन से काम नहीं चलेगा। अन्न के भंडार भरपूर हैं, इन्हें रखने की जगह नहीं बची है ” सीएम ने बताया है कि प्रधानमंत्री ने तय किया है कि 10 हजार किसान उत्पादक संगठन बनाए।

शिवराज सिंह चौहान राजधानी भोपाल में अर्थ मिशन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे तभी उन्होंने कहा कि “8 अप्रैल को मैं 2000 उद्योगों का भूमिपूजन और लोकार्पण एक साथ करूंगा। देश की अर्थव्यवस्था यदि बची है तो किसानों के कारण बची है ”।  शिवराज ने बताया कि PM  मोदी से बातचीत में हमने तय किया है कि किसान का एक-एक दाना खरीदेंगे, किसान उत्पादक संगठन हम बनाते चलेंगे।


उन्होंने कहा कि “मैं किसानो से अपील करता हूं कि औने-पौने दामों में फसल न बेचें. सरकार एक-एक दाना खरीदेगी और वाजिब कीमत अदा करेगी ”। किसानों 4-5 महीनों से दिल्ली की सड़को पर कृषि कानून को लेकर हड़ताल कर रहे हैं और अब बीजेपी सरकार किसानों का संगठन बनाने की प्लानिंग कर रही है। आखिर सरकार किसानों के साथ क्या करने वाली है इसके बारे में किसी तरह का कोई कयास नहीं लगाया जा रहा है।