पंजाब विधान चुनावों परिणामों के दौरान आम आदमी पार्टी की गजब आंधी चली जिसमें खुद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी चुनाव हार गए। चन्नी आज आए नतीजों में अपनी दोनों सीटों से चुनाव हार गए हैं। चन्नी ने इन चुनावों में चमकौर साहिब और भदौर सीटों से चुनाव लड़ा था, लेकिन इसके बावजूद वो अपनी कुर्सी नहीं बचा पाए। यहां तक कि कांग्रेस ही पंजाब में अपनी सत्ता नहीं बचा पाई है। दोपहर तक के रुझानों में स्पष्ट हो चुका है कि आम आदमी पार्टी बुहमत के आंकड़ों से कहीं ज्यादा ऊपर सीटें लाकर आराम से सरकार बना रही है।

यह भी पढ़ें :  चांद सी निखर जाती है पोटलोई ड्रेस पहनने वाली दुल्हन, जानिए मणिपुरी कैसे करते हैं इसें तैयार

कांग्रेस नेता चन्नी ने अभी सितंबर में ही पंजाब की सत्ता संभाली थी। पार्टी में मचे घमासान के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद चन्नी को सीएम पद के लिए चुना गया। उन्हें पहले दलित सीएम के तौर पर खूब चर्चा मिली।

हालांकि, इसके बाद भी कांग्रेस के लिए पंजाब में रास्ता आसान नहीं हुआ। चन्नी और सिद्धू के बीच भी सबकुछ बहुत स्मूद नहीं रहा। पंजाब कांग्रेस के प्रमुख बने नवजोत सिंह सिद्धू की चन्नी के साथ लगातार ठनती रही। इसलिए ये बात काफी दिलचस्प है कि चन्नी और सिद्धू दोनों अपनी सीट से हार चुके हैं। सिद्धू भी अमृतसर ईस्ट से हार गए हैं।

यह भी पढ़ें :  अरुणाचल में है दुनिया का सबसे ऊंचा प्राकृतिक शिवलिंग, आकार देखकर दंग रह जाते हैं लोग

दिलचस्प है कि पंजाब में वर्तमान मुख्यमंत्री के साथ पहले के भी सभी मुख्यमंत्री भी अपनी सीट नहीं बचा पाए हैं। चन्नी के अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह पटियाला शहरी क्षेत्र, सुखबीर बादल जलालाबाद से हार गए हैं।