उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे से हो रही बारिश के दौरान देहरादून जिले में अतिवृष्टि (बादल फटना) के कारण एक मकान पूरी तरह नष्ट हो गया और वहां रहने वाले दो परिवारों की दो बच्चियों, एक पुरुष सहित 20 मवेशियों की मौत हो गई। साथ ही अन्य चार लोग घायल हो गए। 

उन्हें राहत दलों ने मलबे से सुरक्षित निकाल लिया गया है। जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी, देहरादून डाक्टर दीपशिखा रावत ने बताया कि तहसील चकराता के ग्राम पंचायत जोगियों के ग्राम क्वांसी, बिजनाड छानी में अतिवृष्टि की घटना हुई। सूचना मिलते ही राजस्व पुलिस, नागरिक पुलिस और राज्य आपदा परिवादन बल (एसडीआरएफ) के राहत दल मौके पर पहुंच गए। जहां पूर्णत: क्षतिग्रस्त मकान से मुन्ना 32, साक्षी (13) पुत्री मुन्ना और काजल (13) पुत्री शीशपाल के शव बरामद हुये। 

उन्होंने बताया कि इस घटना में बानो पत्नी मुन्ना, मुकुल पुत्र मुन्ना, उषा पत्नी विक्रम और बालोदेवी पत्नी शीशपाल को घायल अवस्था में सुरक्षित निकाल लिया गया। उन्होंने बताया कि अतिवृष्टि की इस घटना में गाय, भैंस, बैल, बकरी आदि समेत 20 मवेशी भी मर गए हैं।