नई दिल्ली। भारत के 9 राज्यों में पर क्लाइमेट चेंज का खतरा मंडरा रहा है. इनमें बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, असम, तमिलनाडु, गुजरात और केरल शामिल है. हाल ही में क्रॉस डिपेंडेंसी इनिशिएटिव द्वारा दुनिया के 2,600 राज्यों को कवर करके यह रिपोर्ट 2050 को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है. इसमें मानव गतिविधियों और घरों से लेकर इमारतों तक जलवायु परिवर्तन व मौसम के चरम हालात से होने वाले नुकसान के पूर्वानुमान का प्रयास किया गया है. इस रिपोर्ट में इसी के आधार पर रैंकिंग दी गई. इसमें जंगलों की आग, बाढ़, लू, समुद्र सतह का बढ़ना जैसे खतरों के बारे में बताया गया है. 

यह भी पढ़ें : दूसरे देशों को पांडा गिफ्ट कर मालामाल हो गया चीन, जानिए इसके पीछे की खतरनाक डिप्लोमेसी

भारत के इन राज्यों पर मंडरा रहा खतरा

क्रॉस डिपेंडेंसी इनिशिएटिव की रिपोर्ट के अनुसार 2050 में 200 में से 114 जोखिम वाले प्रांत एशिया के ही हैं. इनमें भारत और चीन के राज्य अधिक हैं. इस रिपोट के अनुसार साल 2050 तक जो राज्‍य सबसे ज्‍यादा खतरे वाले होंगे उनमें शीर्ष 50 में से 80 प्रतिशत प्रदेश चीन, अमेरिका और भारत के हैं.

पाकिस्तान में आएगी आफत

इस रिपोर्ट में टॉप 100 प्रातों में पाकिस्तान के भी कई प्रांत शामिल हैं. गौरतलब है कि पिछले साल जून और अगस्त में आई विनाशकारी बाढ़ ने पाकिस्तान के 30 प्रतिशत क्षेत्र को बर्बाद कर दिया ​था. इससे सिंध प्रांत के 9 लाख से ज्यादा घर आंशिक या पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए थे.

यह भी पढ़ें : सऊदी अरब बना रहा नया काबा! डिजाइन देखकर भड़के मुसलमान, जानिए क्यों

दुनिया के ये शहर भी है शामिल

क्लाइमेट चेंज से अमेरिका में कैलिफोर्निया, टेक्सास और फ्लोरिडा राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे. इसके अलावा, महत्वपूर्ण एशियाई आर्थिक केंद्रों में बीजिंग, जकार्ता, हो ची मिन्ह सिटी, ताइवान और मुंबई भी शामिल हैं. टॉप 50 में कई प्रांतों और राज्यों वाले अन्य देशों में ब्राजील, पाकिस्तान और इंडोनेशिया हैं. वहीं, यूरोप में उच्च रैंकिंग वाले राज्यों में लंदन, मिलान, म्यूनिख और वेनिस के शामिल हैं.