चिरमिरी मध्य भारतीय राज्य छत्तीसगढ़ का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है, जो अपने हरे-भरे परिदृश्य अपने मनमोहक वातावरण के लिए जाना जाता है। यह पर्वतीय गंतव्य हसदो नदी के पास स्थित है, जो महानदी की एक सहायक नदी है। यह पहाड़ी स्थान राज्य के कोरिया जिले में स्थित है, जो औपनिवेशिक काल के दौरान एक रियासत था। 1998 में इस रियासत को एक स्वतंत्र जिला में तब्दील कर दिया गया था।

किसी नए स्थल की सैर करने से पहले यह सवाल उठना लाजमी हैं, कि हम उस स्थान क्यों जाएं ? चिरमिरी हिल स्टेशन की यात्रा कई मायनों में सुखद हो सकती है। पहला कि यह एक पर्वतीय स्थल है, जहां आपको एक शानदार वातावरण मिल जाएगा, चारो तरफ फैली हरियाली के बीच आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ एक क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। 

अगर आप एक प्रकृति प्रेमी हैं तो यह स्थल आपके लिए किसी खजाने से कम नहीं, यहां पहाड़ी और वनस्पती आकर्षण आपको सुखद एहसास दिलाने का काम करेगा। फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए भी यह स्थल काफी खास है, जहां शानदार प्राकृतिक दृश्यों को कैमरे में कैद किया जा सकता है। इसके अलावा यह स्थल धार्मिक यात्रा के लिए भी खास माना जाता है, आप यहां के आसपास प्रसिद्ध मंदिरों की सैर का प्लान बना सकते हैं।

चिरमिरी हिल स्टेशन के अलावा आप यहां के आसपास के प्राकृतिक आकर्षणों की सैर का प्लान बना सकते हैं। अमृत धार जलप्रपात यहां के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में गिना जाता है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से सैलानियों का आगमन होता है।

चिरमिरी भ्रमण के दौरान आप यहां के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक स्थल महा माया मंदिर के दर्शन करना न भूलें। यह मंदिर भारत के प्रसिद्ध 52 शक्तिपीठों में से एक है। इतिहास से जुड़े साक्ष्यों के अनुसार इस मंदिर का निर्माण 12वीं से 13 वीं शताब्दी के मध्य कलचुरी राजा रत्नदेव ने बनवाया था।

चिरमिरी एक खास स्थल है, जहां साल भर मौसम खुशनुमा बना रहता है, लेकिन मानसून के बाद का समय यहां की सैर के लिए आदर्श माना जाता है। अक्टूबर से अप्रैल तक के बीच यहां का अत्यधिक आनंद लिया जा सकता है। ध्यान रहे इस दौरान अगर आप यहां आएं तो अपने साथ ऊनी कपड़े जरूर साथ रखे।