लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने अपने पिता की पहली पुण्यतिथि पर एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और अपने चाचा पशुपति पारस (Pashupati Paras) पर निशाना साधा है। कहा, बिहार की जनता नीतीश कुमार से नफरत करती है।

बिहार विधानसभा के 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनावों के मद्देनजर चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने कहा कि उनकी पार्टी ने तारापुर से चंदन सिंह और कुशेश्वरस्थान से अंजु देवी को उम्मीदवार बनाया है साथ ही रामविलास पासवास के निधन के बाद खाली हुई लोकसभा की सीट, दादर नगर हवेली में भी लोक जनशक्ति पार्टी अपना उम्मीदवार उतारेगी। लोक जनशक्ति पार्टी  (Lok Janshakti Party) बिहार-फस्ट बिहारी-फस्ट के नाम पर चुनाव लड़ेंगे। नामांकन के लिए दोनों प्रत्याशियों को पार्टी का चुनाव चिह्न हेलीकाप्टर दे दिया गया है।

उन्होंने कहा कि बिहार उपचुनाव (Bihar by-election) में जेडीयू के प्रत्याशी की हार तय है। चिराग ने आरोप लगाया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अकेले, चुनिंदा अधिकारियों के दम पर सरकार चलाते हैं। चिराग ने दावा किया कि तारापुर और कुशेश्वर दोनों सीटों पर जेडीयू तीसरे या चौथे नंबर की पार्टी साबित होगी। उन्होंने कहा कि बिहार में आज जेडीयू प्रधानमंत्री मोदी के सहयोग से सरकार जरुर चला रही है लेकिन मात्र 43 सीटों पर सिमट कर राज्य में जेडीयू तीसरे नंबर पर आ गई है। जोकि लोक जनशक्ति पार्टी की वजह से ही हुआ।

चिराग ने कहा, पिछले विधान सभा चुनाव में हमारी पार्टी को 6 फीसदी वोट मिला था, जबकि पार्टी 100 सीटों तक ही सीमित रही। उस समय हमारे नेता (रामविलास पासवान) (Ram Vilas Paswan) बीमार थे और मुझे 10-15 दिन ही चुनाव प्रचार करने का समय मिला था, वो भी छठे या सातवें चरण में जाकर और आज 15 फीसदी वोट पाने वाले पार्टी के नेता बिहार के मुख्यमंत्री बने हुए हैं। चिराग ने नितिश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार की जनता नीतीश से नफरत करती है। बिहार में अपराध, स्वास्थ्य और भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। 100 में से मात्र 7 लोगों पर कार्रवाई होती है। नीति आयोग भी लगातार बिहार सरकार के काम पर सवाल खड़े करता रहा है। सब कुछ मुख्यमंत्री की नाक के नीचे हो रहा है, वो भी इसमें संलिप्त हैं। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री (Bihar CM) ने जनता के बीच जाना ही छोड़ दिया है। पैगसेस से लेकर जाति जनगणना तक हर मसले पर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जेडीयू (JDU) और बीजेपी का अलग-अलग स्टैंड रहता हैं। ये कैसा गठबंधन है, ये जल्द ही टूटने वाला है। जिस तरह से बिहार में सरकार चल रही है ये मध्यवर्ती चुनाव की रूपसेखा तय कर रही है। चिराग ने चाचा पशुपति पारस पर निशाना साधते हुए कहा, शुक्रवार को मेरे पिता की पुन्यतिथि है पिछले एक साल मेरे परिवार के लिए बहुत परेशानी भरे रहे। चाचा केवल कुर्सी के लिए अपने परिवार से इस तरह नाता तोड़ सकते हैं, देखकर बहुत तकलीफ होती है। उन्होंने मेरे पिता रामविलास पासवान की पार्टी को तोड़ दिया।