टोक्यो ओलंपिक्स की गोल्ड मेडलिस्ट चीनी जिमनास्ट झू शूयिंग ने मेडल की गुणवत्ता पर सवाल उठाए हैं। उनका दावा है कि उनके गोल्ड मेडल की परतें उतर रही हैं। झू ने वीबो (चीनी सोशल मीडिया ) पर तस्वीरें पोस्ट कर बताया कि चार हफ्तों में ही पदक की परत उतरने लगी है। 

झू ने वीबो पर तीन तस्वीरें पोस्ट की हैं। जिनके साथ उन्होंने कैप्शन भी दिया है। उन्होंने लिखा कि मैं इसे स्पष्ट कर दूं, पहले तो मेरा मकसद इस मेडल को छीलना नहीं था। मैंने देखा कि मेरे पदक पर एक छोटा सा निशान था। मुझे लगा कि शायद यह सिर्फ गंदगी थी, इसलिए मैंने इसे मेरी अंगुली से रगड़ा और पाया कि कुछ भी नहीं बदला है, उल्टा निशान बड़ा हो गया। झू के इस पोस्ट को हजारों लोग कमेंट कर चुके हैं।

वहीं ओलंपिक समिति ने मामले में स्पष्टिकरण दिया है। समिति का कहना है कि यह सोने की परत नहीं उतरी है। बल्कि मेडल पर एक कोटिंग की गई थी, उसी की एक सतह उतरी है। समिति का दावा है कि यह पतली कोटिंग पदकों को छोटी खरोंच और दाग से बचाने के लिए की गई है। यह पदक की गुणवत्ता को प्रभावित नहीं करती।