नई  दिल्ली । पर्यावरण और विज्ञान एव प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने दीपावली पर चीनी पटाखों का बहिष्कार  करने का आह्वान करते हुए आज कहा कि मानव स्वास्थ  और पर्यावरण के लिए हानिकारक  सभी किस्म के पटाखों की जगह भविष्य में प्रदूषण मुक्त पटाखे विकसित करने की योजना है।

डॉ. हर्षवर्द्धन यहा महीने भर चलने वाले 'हरित  दीपावली स्वच्छ दीपावली अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि कि वैसे तो सभी किस्म के पटाखे मानव स्वास्थ और पर्यावरण के लिए हानिकारक हैं, लेकिन चीनी पटाखों में विशेष रूप से बेहद खतरनाक रसायन मौजूद होते हैं इन पटाखों  की बिक्री पर रोक है लेकिन तस्करी के जरिए चोरी छिपे ये बाजारों में बहुतायत में  पहुंच  रहे  हैं।  एसे में यह आम लोगों  की भी जिम्मेदारी बनती है कि वे इन्हें नहीं खरीदे और इनका बहिष्कार करें।

इस सवाल पर कि अगर सरकार देश में निर्मित पटाखाें  का भी पर्यावरण के लिहाज से हानिकारक मानती है तो इनपर प्रतिबंध क्यों  नहीं लगा देती, डॉ.हर्षवर्द्धन ने कहा कि यह एक संवेदनशील मामला है। कोई भी फैसला लेते समय जनमानस की भावनाओं का भी ख़याल रखना पड़ता है इसलिए सरकार ने एक बीच का रास्ता निकाला है।

 इसके लिए पर्यावरण मंत्रालय की विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ मिलकर ऐसो प्रौद्योगिकी विकसित करने की योजना है जिससे प्रदूषण मुक्त पटाखे बनाए जा सके जो प्रदूषण फैलाने की बजाए वातावरण में सुंगध फैलाएगे। उन्होंने कहा कि इस योजना में पटाखा उद्योग को भी जागरूक बनाने का काम किया जा रहा है।