पाकिस्तान में हुए आतंकी हमले से चीनी नागरिक इस कदर डर गए हैं कि अब उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए खुद हथियार उठा लिए हैं। सोशल मीडिया पर कई तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिसमें CPEC प्रोजेक्ट्स पर पाकिस्तान में काम कर रहे चाइनीज इंजीनियर एके-47 लिए नजर आ रहे हैं। बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान के उत्तर पश्चिमी इलाके में एक बस में हुए विस्फोट में 9 चीनी इंजीनियरों की मौत हो गई थी।

 

पाकिस्तान में अपने नागरिकों की मौत से चीन बुरी तरह बौखला गया है। उसने जांच के लिए अपनी एक टीम भी भेजी है। वहीं, अपने ‘आका’ को खुश करने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सभी चीनी नागरिकों की सुरक्षा का भरोसा दिलाया है, लेकिन चीन-पाक आर्थिक गलियारे के कामकाज में लगे चाइनीज वर्कर्स का डर खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए टूलकिट छोड़कर एके-47 जैसे हथियार उठा लिए हैं।

पाकिस्तान में मौजूद चीनी नागरिकों को लगता है कि इमरान खान सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने में नाकाम रही है और आगे भी उनकी जान को खतरा हो सकता है। इसलिए अब उन्होंने खुद हथियार उठा लिए हैं। हालांकि, गौर करने वाली बात ये है कि आखिर वर्कर्स के पास इतने घातक हथियार आए कहां से? क्या चीन ने खुद अपने नागरिकों को हथियार उपलब्ध कराए हैं या फिर यह तालिबान के साथ बढ़ती उसकी नजदीकी का सबूत है? यदि इस सवाल का जवाब ‘हां’ है, तो भी पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाएगा। क्योंकि चीन नागरिकों की मनमानी के किस्से कई बार सामने आ चुके हैं।