कोरोना हमले के बाद से चीन अब साइबर तरीके से भारत पर हमला कर रहा है। भारतीय कंपनियों निशाना बनाकर डाटा लूटने की फिराक में हैं। साइबर खतरे की खुफिया एजेंसी ने बताया कि चीन के साइबर सिपाहियों की एक इकाई ने भारत की टेलीकॉम कंपनियों, सरकारी एजेंसियों और कई डिफेंस कॉन्ट्रेक्टर्स को अपना शिकार बना लिया है। यह देश की सुरक्षा के लिए बहुत ज्यादा खतरा है।

खबर मिली है कि चीन भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में साइबर हमले कर रहा है। रिकॉर्डेड फ्यूचर नाम की कंपनी के इंसिक्ट ग्रुप ने पाया है कि संदिग्ध चीनी समूह 2020 और 2021 में कई भारतीय संस्थानों को निशाना बना रहे हैं। इस समूह का नाम RedFoxtrot बताया जा रहा है। इससे पहले कंपनी ने जानकारी दी थी कि चीन ऊर्जा क्षेत्र में भारत के अहम इन्फ्रास्ट्रक्चर और पोर्ट क्षेत्र को निशाना बना रहा है।

RedEcho कंपनी का मुख्यालय अमेरिका में है। इंसिक्ट ग्रुप ने के मेंबर ने बताया है कि खासतौर से भारत में हमने एक समूह की पहचान की है, जो बीते 6 महीनों में सफलतापूर्वक दो टेलीकॉम संस्थाओं, तीन डिफेंस कॉन्ट्रेक्टर्स और कई अतिरिक्त सरकारी और निजी क्षेत्र की संस्थाओं को निशाना बना रहा है '।  ये गतिविधियां उस समय हुईं, जब भारत और चीन के बीच काफी तनाव था।