डोकलाम विवाद के बाद चीनी सेना गतिविधियां अब जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में भी बढ़ने लगी है। चीन ने तिब्बत में सेना का जमावड़ा बढ़ा दिया है, इससे सीमावर्ती इलाके में तनाव बढ़ गया है। बता दें कि पिछले साल जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में चीनी सेना की ओर से घुसपैठ की कई बार कोशिश की गई थी और इस साल उसने यहां पर अपनी सैन्य ताकत बढ़ानी शुरू कर दी है।

चीन की इन गतिविधियों को देखते हुए लद्दाख के सीमावर्ती इलाकों में रहने वालों का आरोप है कि चीनी सेना की बढ़ती हरकत को देखते हुए भी भारत सरकार की ओर से कुछ नहीं किया जा रहा और वह उसे लगातार नजर अंदाज कर रही है।


यहां तक की वहां के स्थानीय लोग भारत सरकार के रवैये से बेहद नाराज हैं। उनकी शिकायत है कि भारत और चीन की सीमा के बीच लाइन ऑफ एक्चूएल कंट्रोल (एलएसी) पर पड़ोसी मुल्क को जवाब देने के बजाए चरवाहों को ही अपने इलाके में ही जाने से ही भारतीय सेना रोक रही है।


डोकलाम के बाद लद्दाख क्षेत्र में बढ़ रही चीन की गतिविधियों को देखते हुए केंद्र सरकार और रक्षा मंत्रालय को मामले में विशेष कदम उठाने चाहिए। चीन लगातार सीमावर्ती इलाकों में कई सरकारी काम को रोककर दादागिरी दिखता है। भारत के खिलाफ चीन की गतिविधियां पिछले कुछ सालों में काफी बढ़ गई है, उसकी कोशिश है कि भारत को चारों तरफ से घेरा जाए और भारतीय क्षेत्रों को अपने कब्जे में लिया जाए।