चीन ने भारत को सीधी धमकी दी है कि यदि भारतीय सेना ने LAC पर गलती दोहराई तो 1962 वाला अंजाम होगा। आपको बता दें कि इस समय लद्दाख में भारत और चीन के बीच टकराव लगातार बढ़ता जा रहा है। चीन ने सोमवार रात को एलएसी पर भारतीय सेना पर फायरिंग करने का आरोप लगाया। भारतीय सेना ने साफ किया कि किसी भी स्तर पर भारतीय सेना ने एलएसी पार नहीं किया और फायरिंग सहित किसी भी आक्रामकता का इस्तेमाल नहीं किया। हालांकि चीनी मीडिया में भी भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव को लेकर लगातार आर्टिकल छापे जा रहे हैं।
चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स भारत के खिलाफ लगातार अपनी सरकार का प्रोपेगैंडा फैला रहा है। अखबार ने पीएलए के वेस्टर्न कमांड के प्रवक्ता के हवाले से लिखा है, भारतीय सेना ने सोमवार को पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर शेनपाओ पहाड़ी इलाके में एलएसी अवैध तरीके से पार किया और उसके बाद गश्त कर रहे चीनी सैनिकों के सामने हवा में फायरिंग की। चीनी सीमा पर गश्त कर रहे दल को इलाके में स्थिरता कायम करने के लिए मजबूरन काउंटर अटैक करना पड़ा।
चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स ने मंगलवार को एक आर्टिकल छापा है। इस लेख का शीर्षक है। अगर भारत सरहद पर गलती दोहराता है तो इतिहास दोहराया जाएगा। ग्लोबल टाइम्स ने फर्जी दावा करते हुए लिखा है कि भारत ने सीमा पर हथियार ना इस्तेमाल करने के समझौते को तोड़ा है। ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है, भारतीय पक्ष को लगता है कि हथियारों का इस्तेमाल ना करने की वजह से उसकी स्थिति कमजोर है इसलिए भारतीय सेना अपनी क्षमता को मजबूत करने के लिए हथियारों का इस्तेमाल करना चाहती है।