हांगकांग। चीनी सरकार की राष्ट्रीय सुरक्षा कानून ने हांगकांग में मीडिया की स्वतंत्रता को लगभग समाप्त कर दिया है तथा बीङ्क्षजग के समर्थक तथा राज्य के स्वामित्व वाले मीडिया क्षेत्र को मंजूरी मिली है। ब्रिटेन के एक समर्थक समूह हांगकांग वॉच ने इसकी जानकारी दी। 

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर


यह रिपोर्ट हांगकांग विदेश कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब द्वारा मानवाधिकार प्रेस पुरस्कारों को बंद करने की घोषणा करने के बाद जारी की गयी। कल्ब ने कहा था कि वह बीजिंग की राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का उल्लंघन नहीं करना चाहता है। इसके संबंध में 24 अप्रैल को हुई बैठक में भी कुछ सदस्यों ने पुरस्कारों के आगे बढऩे पर राष्ट्रीय सुरक्षा पुलिस द्वारा जांच किए जाने के जोखिम पर चर्चा की थी। 

मानवाधिकार प्रेस पुरस्कारों को रद्द करने के बाद, क्लब की प्रेस स्वतंत्रता समिति के कई सदस्यों ने अपना इस्तीफा दे दिया। समाचार पत्र 'द गार्जियन' ने रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि अब इसके बाद हांगकांग में स्थानीय और विदेशी पत्रकारों के लिए काम करना काफी कठिन हो गया। 

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें

गौरतलब है कि प्रेस की स्वतंत्रता पर कार्रवाई के बाद एप्पल डेली, स्टैंड न्यूज सहित कई चैनल बंद हो गए। दैनिक की रिपोर्ट के अनुसार, आरटीएचके में सरकारी हस्तक्षेप के बाद से सार्वजनिक प्रसारक को उसकी संपादकीय स्वतंत्रता छीन ली है। जिसके बाद कई मीडिया हाउस डरे हुए हैं। इसका एक उदारहण 2019 में देखने को मिला था, जब लोकतंत्र समर्थक पार्षद एंड्रयू चिउ पर नवंबर 2019 पर हमला किया गया था। जिसमें उन्हें बुरी तरह घायल कर दिया गया था।