चीन के युन्नान प्रांत के दक्षिण-पश्चिम में स्थित नेचर रिजर्व से भागा हाथियों का झुंड 15 महीने की यात्रा के बाद आराम करता दिखाई दिया। हाथियों के झुंड क निगरानी में जुटे अधिकारियों ने ड्रोन के जरिए इन हाथियों की तस्वीर ली है, जिसमें समूह के सभी हाथी आराम करते नजर आ रहे हैं। 

अधिकारी हाथियों के झुंड की निगरानी करने और उन्हें रिहायशी इलाकों से दूर रखने के लिए लगातार योजनाओं पर काम कर रहे हैं। चीनी मीडिया के अनुसार युन्नान वन फायर ब्रिगेड ने कहा कि आठ लोगों की एक टीम दिन में 24 घंटे, जमीन पर और हवा में ड्रोन द्वारा इन हाथियों पर नजर रख रही है। यह हाथी अब तक 500 किलोमीटर यानी 300 मील की दूरी तय कर चुके हैं। मूल रूप से इस झुंड में सोलह हाथी थे, हालांकि सरकार का कहना है कि दो वापस घर लौट आए और सैर के दौरान एक हाथी के बच्चे का जन्म हुआ।

हाथियों ने आराम करने के बाद दूसरे दिन सुबह से फिर से चलना शुरू कर दिया। हाथियों को मानव क्षेत्रों से दूर ले जाने और उनके रास्ते में आने वाले लोगों को हटाने के लिए सोमवार को 410 से ज्यादा आपातकालीन कर्मियों, 374 वाहनों और 14 ड्रोन को दो टन से अधिक हाथियों के खाने के साथ तैनात किया गया था। वन्यजीव अधिकारी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि पिछले साल 16 हाथियों का झुंड आखिर क्यों सड़कों पर निकल पड़ा था। आधिकारिक रिपोर्टों के मुताबिक, झुंड में अब छह मादा हाथी और तीन नर हाथी, तीन किशोर हाथी और तीन छोटे हाथी शामिल हैं। किसी भी हाथी के हताहत होने की फिलहाल कोई सूचना नहीं है, लेकिन रिपोर्टों में ऐसा कहा गया है कि हाथियों ने लगभग 1 मिलियन डॉलर से अधिक फसलों को नष्ट कर दिया है। हाथियों को रिजर्व में कब और कैसे लौटाया जाएगा, यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है।

एशिया में हाथी जमीन पर रहने वाले सबसे बड़े जानवर हैं और इनका वजन तकरीबन 5 मीट्रिक टन तक हो सकता है। एक चीनी विशेषज्ञ ने बताया कि ये चीन के इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी माइग्रेशन की घटना है। माना जा रहा है कि हाथियों का लीडर अनुभवहीन है, जिस वजह से ये झुंड रास्ते से भटक गया।