एक लड़की ने मोदी सरकार के उस दावे की पोल खोलकर रख दी जिसमें कहा गया था कि कोरोना वायरस के चलते चीन से सभी भारतीयों को वापस अपने देश लाया जा चुका है। इस लड़की ने मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि उसें कोरोना वायरस के शक में चीन में छोड़ दिया गया। यह महिला आंध्र प्रदेश की है और चीन में रह रही है। पेशे से इंजीनियर इस महिला ने वीडियो मैसेज जारी करके भारत सरकार पर गंभीर आरोप लगाए है। महिला ने कहा है कि उसे भारत वापस इसलिए नहीं लाया गया, क्योंकि वो हाई टेम्प्रेचर का शिकार थी। उसने यह भी दावा किया है कि कई और भारतीयों को संक्रमण के शक में वुहान से नहीं लाया गया है, जबकि चीन ने उनको कोरोना वायरस से संक्रमित न होने की पुष्टि की थी।


आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस से गुरुवार को और 73 लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 636 पर पहुंच गई। अब तक कोरोना वायरस के 31 हजार से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। चीन के हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस महामारी का रूप ले चुका है। इसके संक्रमण के 2,447 नए मामलों की पुष्टि हुई है, साथ ही 69 और मौतें हुई हैं।

वुहान में गुरूवार को संक्रमण के 1,501 नए मामले सामने आए और 64 नई मौतें हुई हैं, वहीं शियाओगान और हुआंगगांग शहरों में क्रमश: 255 और 90 नए मामलों की पुष्टि हुई है। हालांकि गुरुवार को प्रांत में 184 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी। कल ही चीन में 3,143 लोगों के संक्रमण की चपेट में आने के नए मामले दर्ज किए गए। कोरोना वायरस की चपेट में आए मामलों की कुल संख्या 31,161 पर पहुंच गई है। कल तक इस वायरस के संक्रमण से पीड़ित करीब 1,540 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

इसके साथ ही चीन ने कोरोना वायरस के मरीजों के लिए बनाए गए 1,500 बिस्तर वाले नए अस्पताल को गुरुवार को खोल दिया है। चीन में मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इलाज के लिए टेंट अस्पताल तथा मोबाइल क्लिनिक भी शुरू किए गए हैं।

भारत की बात की जाए तो एयर इंडिया और इंडिगो समेत कई अंतरराष्ट्रीय विमानन कंपनियों ने वायरस के दुनियाभर में फैलने के डर से चीन जाने वाली उड़ानें रद्द कर दी हैं। भारत और अमेरिका समेत कई देशों ने यात्रा प्रतिबंधों की भी घोषणा की है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360