POK में पाक और लद्दाख में चीन भारत पर लगातार हमले कर रहे हैं। ऐसे माना जा रहा है कि यह कोई बड़ी साजिश है। लद्दाख और सिक्किम में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारत-चीन के सैनिकों के बीच जारी गतिरोध गहराता जा रहा है। चीन पैंगोंग सो झील से सटे फिंगर एरिया में बंकर बना रहा है। इतना ही नहीं बल्कि वह गलवान क्षेत्र में तो 3 जगहों पर भारतीय क्षेत्र में आ घुसा है।

आपको बता दें कि इस समय पाकिस्तान LoC पर लगातार फायरिंग कर रहा है वहीं, घाटी में पाक प्रायोजित आतंकी हमले बढ़े हैं। वहीं LAC पर चीन लगातार आक्रामक रूख अपनाए हुए हैं। हालांकि अतीत में चीन की कुटिलताओं को देखते हुए साजिश की आशंका ज्यादा है।
पैंगोंग सो झील से सटी पहाड़ी पगडंडियों से बने क्षेत्रों को फिंगर एरिया कहा जाता है। इन पर चीन और भारत यानी दोनों ही पक्ष अपना-अपना दावा करते हैं और यही वजह है कि इनको लेकर जब-तब विवाद होता रहता है।

माना जा रहा है चीनी सैनिकों ने लद्दाख में कम से कम 3 पॉइंट्स पर भारतीय क्षेत्र का उल्लंघन किया है। इसमें पट्रोल पॉइंट 14 और रणनीतिक तौर पर अहम गोगरा पोस्ट की नजदीकी जगह शामिल है। रिपोर्ट्स इशारा करती हैं कि इनमें से हर स्पॉट पर चीन के 500 से ज्यादा सैनिक मौजूद हैं, वह भी भारतीय क्षेत्र के भीतर।
एलओसी और एलएसी पर हो रहीं घटनाओं ने करगिल जंग की याद ताजा कर दी है। जब भारत करगिल में पाकिस्तान के नापाक मंसूबों को ध्वस्त करने में लगा था, उसी वक्त शातिर चीन ने पैंगोंग सो झील के किनारे 5 किलोमीटर लंबी सड़क बनाने में जुट गया। इधर भारतीय सैनिकों को फोकस पाकिस्तानी हिमाकत को काउंटर करने पर था और उधर चीन ने इस मौके का फायदा उठाते हुए रेकॉर्ड समय में झील के किनारे पट्रोलिंग के लिए ट्रैक बना लिया।
ऐसे में माना जा रहा है कि यदि इन पाकिस्तान और चीन के साथ भारत की टेंशन बढ़ती है तो वो दोनों मिलकर हमला कर सकते हैं।