योगी आदित्यनाथ को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद आज शाम चार बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। समारोह के मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होंगे। इसके साथ ही समारोह की शोभा 12 से ज्यादा राज्यों के मुख्यमंत्री भी बढ़ाएंगे। इनमें गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, असम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा, मेघालय, बिहार, नगालैंड और पुंडुचेरी के मुख्यमंत्री शामिल हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, बीजेजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा, तमाम केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के राज्यों के मुख्यमंत्री तो मौजूद होंगे। साथ ही राज्य में विपक्षी नेताओं को भी न्योता भेजा गया है। जिसमें पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, मायावती, RLD के जयंत चौधरी को निमंत्रण दिया है. इतना ही नहीं देश के कई नामचीन उद्योगपति, बड़े-बड़े धर्माचार्य, साधु-संत भी शपथग्रहण के गवाह बनेंगे।

यह भी पढ़ें- द कश्मीर फाइल्स फिल्म को लेकर भाजपा पर भड़के अरविंद केजरीवाल, कह दी ऐसी बड़ी बात

लखनऊ में भव्य आयोजन के बीच योगी आदित्यनाथ लगातार दूसरी बार यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. योगी के साथ मंत्रियों की भी लंबी टीम होगी. तैयारियां भव्य है और मेहमानों की लिस्ट काफी लंबी है. योगी के साथ करीब 46 मंत्री के भी शपथ लेन की उम्मीद है। 

बता दें कि शपथ से पहले सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। गौर हो कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में गुरुवार को योगी आदित्यनाथ को एनडीए के विधायक दल का नेता चुना गया। विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद योगी आदित्यनाथ राजभवन पहुंचे और राज्यापाल आनंदी बेन पटेल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया। इसके बाद बीजेपी नेताओं ने सहयोगियों के साथ राजभवन में बहुमत होने का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंपा।

यह भी पढ़ें- आज फिर बढ़े Petrol-Diesel के दाम, जानिए आपके शहर में क्या हैं नई कीमतें

यूपी के इतिहास में तीन दशकों से भी ज्यादा वक्त के बाद ऐसा मौका आया है, जब कोई मुख्यमंत्री दूसरे कार्यकाल को रिपीट करने जा रहा है। ये सब बीजेपी को मिले बंपर जनादेश की बदौलत मुमकिन हो पाया है। इस ऐतिहासिक जीत के बाद शपथ लेने जा रहे योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन भी ऐतिहासिक होने वाला है।