छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के एक सरगना को सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया है। इसके सिर पर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित था। दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि यह एनकाउंटर रविवार को दोपहर 2 बजे के करीब शुरू हुआ। यह मुठभेड़ गाडम और जंगमपाल गांवों के बीच हुई। डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड की ओर से दी गई जानकारी के बात कातेकल्याण पुलिस स्टेशन की ओर से यह एनकाउंटर किया गया था।

एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि मुठभेड़ में नक्सलियों की ओर से फायरिंग थमने के बाद मौके पर खूंखार माओवादी वेत्ती हुंगा का शव बरामद किया गया। राजधानी रायपुर से यह एकाउंटर स्थल 400 किलोमीटर दूर था। सुरक्षा बलों ने एनकाउंटर स्थल से एक पिस्तौल, 2 किलो के करीब आईईडी, माओवादी बैग्स, साहित्य और दवाईयां भी बरामद कीं। वेत्ती हुंगा शीर्ष माओवादी कमांडरों में से एक था और नक्सलियों की ओर से किए गए कई खूंखार हमलों में शामिल था। पुलिस ने उस पर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया हुआ था। अभिषेक पल्लव ने बताया कि हुंगा को ढेर करना सुरक्षा बलों के लिए बड़ी कामयाबी है।

बता दें कि 3 अप्रैल को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों के एक ऑपरेशन के दौरान हमला कर दिया था। इसमें सीआरपीएफ और राज्य पुलिस के 22 जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा सीआरपीएफ की कोबरा कमांडो यूनिट के जवान  राकेश्वर सिंह मन्हास को नक्सलियों ने अगवा कर लिया था। हालांकि सरकार के प्रयासों के चलते नक्सलियों ने मन्हास को रिहा कर दिया था।