दिल्ली के छठ घाटों पर इस साल छठ पूजा का (Chhath Puja will be organized at Chhath Ghats of Delhi) आयोजन किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने इसकी अनुमती दे दी है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister Manish Sisodia) ने इसकी जानकारी दी है।  सिसोदिया के हवाले से कहा है, ''डीडीएमए की आज की बैठक में फैसला किया गया कि दिल्ली में छठ पूजा की इजाजत दी जाएगी। यह सरकार द्वारा पहले से तय किए गए स्थानों पर बहुत सख्त प्रोटोकॉल के साथ किया जाएगा। COVID प्रोटोकॉल के पालन के साथ सीमित संख्या में लोगों को अनुमति दी जाएगी।''

30 सितंबर को जारी एक आदेश में, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने COVID-19 से उत्पन्न खतरे को देखते हुए नदी के किनारे, घाटों और मंदिरों सहित सभी सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा के आयोजनों पर रोक लगा दी थी।

इसके विरोध में मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के आवास पर विरोध प्रदर्शन किया था और छठ समारोह की अनुमति देने की मांग की थी। इसके बाद में 14 अक्टूबर को केजरीवाल ने दिल्ली में छठ पूजा की (Kejriwal wrote a letter to Lieutenant Governor Anil Baijal to allow Chhath Puja in Delh) अनुमति देने के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल को एक पत्र लिखा था।

दिल्ली में छठ पूजा से पहले शुरू होगा स्पेशल कोविड टीकाकरण अभियान (Special Covid vaccination) 

राजधानी दिल्ली में छठ पूजा में हिस्सा लेने वाले 10,000 लोगों के लिए मंगलवार से एक स्पेशल कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू करने की घोषणा की गई है। केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी मंगलवार को बुराड़ी के निकट कादीपुर से इस विशेष टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली से सांसद तिवारी ने छठ के आयोजन पर प्रतिबंध का कड़ा विरोध किया था, उन्होंने मंगलवार को ''छठव्रतियों'' का टीकाकरण अभियान चलाने की घोषणा की थी ताकि त्योहार को सुरक्षित रूप से मनाया जा सके। अभियान के तहत पूरे शहर में 10,000 से अधिक लोगों को टीका लगाया जाना है।