भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में बाएं हाथ के बल्लेबाजों को 200 बार आउट करने वाले पहले गेंदबाज बन गए हैं। अश्विन ने यह उपलब्धि इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को हासिल की। अश्विन ने बाएं हाथ के बल्लेबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को आउट कर इस उपलब्धि को हासिल किया।

अश्विन ने अपने करियर में 391 विकेट लिए हैं जिसमें 51.2 फीसदी विकेट उन्होंने बाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ लिए हैं। बाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ उनका औसत 19.55 फीसदी और दाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ औसत 31.24 फीसदी है। अश्विन से पहले श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन ने 191 बार बाएं हाथ के बल्लेबाजों को आउट किया है। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने 190 और ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा ने अपने करियर में 172 बार बाएं हाथ के बल्लेबाजों को आउट किया है। अश्विन इसके साथ ही घरेलू मैदान में भारत के लिए सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज बन गए। उन्होंने हरभजन सिंह को पीछे छोड़ यह उपलब्धि हासिल की। हरभजन ने भारत के लिए घरेलू मैदान पर 265 विकेट लिए हैं जबकि अश्विन अबतक 268 विकेट ले चुके हैं।

वहीं आर अश्विन ने दूसरी पारी में बल्ले से कमाल दिखाते हुए शानदार शतक जड़ दिया। अश्विन ने टेस्ट करियर में पांचवीं बार सेंचुरी ठोकी। आर अश्विन ने चेन्नई की मुश्किल पिच पर जबर्दस्त बल्लेबाजी करते हुए 134 गेंदों में शतक पूरा किया। इस शतक के साथ ही आर अश्विन ने एक बड़े कारनामे को भी अंजाम दिया। अश्विन एशिया के पहले क्रिकेटर हैं, जिन्होंने 3 बार एक पारी में पांच विकेट लेने के साथ-साथ शतक भी जड़ा है। इयान बॉथम ने इस कारनामे को 5 बार अंजाम दिया है। वहीं शाकिब अल हसन, गैरी सोबर्स, मुश्ताक मोहम्मद, जैक कैलिस ने ये कारनामा 2-2 बार किया है। बता दें अश्विन ने अपने पिछले चारों शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ लगाए थे अब उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध सेंचुरी लगाई है।