उत्तर प्रदेश में बाराबंकी के रामसनेहीघाट तहसील क्षेत्र में एक भवन पर प्रवेश पर पाबंदी लगाने से नाराज भीड़ ने सुरक्षा बलों पर पथराव कर दिया जिसके जवाब में पुलिस ने बल प्रयोग कर उन्हे खदेड़ दिया। इस सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि तहसील कॉलोनी परिसर में बने एक कमरानुमा भवन पर कब्जेदारी को लेकर कुछ लोग नमाज पढऩा चाह रहे थे मगर, संदिग्धों के मिलने के बाद आवासीय परिसर में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई। 

तहसील प्रशासन की रोक व सख्ती से नाराज भारी संख्या में उपद्रवियों ने शुक्रवार देर शाम पथराव कर दिया। जवाब में पुलिस ने लाठी चार्ज किया और रबर बुलेट से फायरिंग कर उन्हें खदेड़ दिया। स्थिति को देखते हुए आसपास के थानों की पुलिस व पीएसी बुला ली गई। देर रात डीएम व एसपी भी मौके पर पहुंचे। शांति व्यवस्था को लेकर कस्बों में पुलिस तैनात कर दी गई है। उन्होने बताया कि तहसील में कर्मचारियों व अधिकारियों के आवास के चारों ओर बाउंड्रीवाल भी है। इसी परिसर में बने एक भवन में बिहार के कटिहार निवासी कुछ लोग गोपनीय तरीके से रहते थे। सप्ताह के विशेष दिनों में यहां भीड़ भी जुटने लगी। 

इसकी शिकायत आवासीय परिसर में रहने वाले लोगों ने एसडीएम से की। इस पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट दिव्यांशु पटेल ने मामले की जांच कराई तो तहसील के आवासीय परिसर की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो गए। उन्होंने यहां पर रहने वालों को नोटिस भेजा तो सभी फरार हो गए। इसके बाद एसडीएम ने परिसर में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगाते हुए छोटे गेट को बंद कराकर बैरिकेडिंग करा दी। इस पर कल एक विशेष वर्ग के लोग परिसर में बने कमरे पर अपनी कब्जेदारी जताने को लेकर नमाज अदा करने का दबाव तहसील प्रशासन पर बनाने के लिए इकट्ठा हो गए।

मगर, सुरक्षा के लिहाज से आवासीय परिसर में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक होने के कारण पुलिस ने उन्हें अंदर जाने से मना किया। पुलिस के समझाने पर सभी लौट भी गए लेकिन तहसील प्रशासन की सख्ती को लेकर देर शाम करीब 100 अराजकतत्व इकट्ठा हो गए और पथराव शुरू कर दिया। इस पर अपने बचाव में पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद रबड़ बुलेट व आंसू गैस के गोले दागकर सभी को खदेड़ दिया। यह खबर मिलते ही पूरे कस्बे की दुकानें बंद हो गई मौके की स्थित देख दरियाबाद, टिकैतनगर, बदोसराय, असंद्रा, जैदपुर व सफदरगंज समेत कई थानों की पुलिस व पीएसी बुला ली गई। 

एसडीएम व सीओ ने पुलिस कर्मियों के साथ भ्रमण कर लोगों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि तहसील के आवासीय परिसर में बने एक कमरे में कुछ अराजकतत्व नमाज पढऩा चाह रहे थे। इसमें कुछ संदिग्धों के रहने की सूचना पर गेट बंदकर बैरिकेडिंग करा दी गई थी। इसे लेकर कुछ लोग कोर्ट भी गए थे। मगर, वहां उनकी अपील रिजेक्ट कर दी गई थी। इसके बाद कुछ अराजकतत्व देर शाम वहां पथराव करने लगे। इसे लेकर पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य की तलाश की जा रही है। मौके पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है स्थिति शांतिपूर्ण है।