जिन लोगों पर सृष्टि के पालनकर्ता की कृपा बरसती है वे व्यक्ति जीवन में सभी सुख पा लेता है। जीवन में समस्त संकटों का नाश होता है और जीवन धन्य हो जाता है। मां लक्ष्मी भगवान श्री विष्णु जी की अर्धांगिनी हैं। और ऐसे में जिस व्यक्ति को श्री हरि की कृपा प्राप्त होती है उसे मां लक्ष्मी का आशीर्वाद भी मिलता है। रोज भगवान श्री हरि की पूजा और मंत्र जाप करने से व्यक्ति के सभी संकटों का नाश होता है। साथ ही धन-वैभव की प्राप्ति होती है। 

यह भी पढ़ें : मेघालय की खूबसूरती को देखना हुआ आसान, फ्लाईबिग ने शुरू की दिल्ली से शिलांग के लिए उड़ानें

माना जाता है कि भगवान विष्णु की सच्चे मन से पूजा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। साथ ही, घर में मां लक्ष्मी का वास होता है। अगर नियमित रूप से भगवान श्री हरि की पूजा की जाए, और इन मंत्रों का जाप किया जाए, तो व्यक्ति के समस्त दुख-तकलीफें दूर हो जाएंगी। आइए जानें इन मंत्रों के बारे में। 

नियमित करें भगवान विष्णु के इन मंत्रों का जाप

-विष्णु भगवान का लोकप्रिय मंत्र

ॐ नमोः भगवते वासुदेवाय ||

शास्त्रों के अनुसार ये विष्णु जी का मूल मंत्र है। भगवान विष्णु की भक्ति के लिए इस मंत्र का जाप पूरी श्रद्धा और सच्चे मन से करना चाहिए।

-धन प्राप्ति के लिए विष्णु मंत्र

ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि।

ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल पत्रकारों ने की सुरक्षा के लिए सरकार से की विशेष कानून बनाने की मांग

ऐसी मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति आर्थिक तंगी से जूझ रहा है, या फिर धन-धान्य की कमी है, तो पूजा के दौरान नियमित रूप से इस मंत्र का जाप करें। ऐसा करने से व्यक्ति की धार्मिक स्थिति में सुधार आने लगता है। 

-विष्णु गायत्री मंत्र

ॐ नारायणाय विद्महे।

वासुदेवाय धीमहि।

तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

भगवान विष्णु के इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को समस्त दुखों से छुटकारा मिलता है। मान्यता है कि जो व्यक्ति इस मंत्र का जाप पूरे विधि-विधान के साथ करता है, उसके सारे दुख-कष्ट दूर हो जाते हैं।

-सुदर्शन चक्र साधना मंत्र

ॐ ह्रीं कार्तविर्यार्जुनो नाम राजा बाहु सहस्त्रवान।

यस्य स्मरेण मात्रेण ह्रतं नष्टं च लभ्यते।।

सुदर्शन चक्र साधान मंत्र से कई प्रकार के लाभ और विष्णु जी का आशीर्वाद प्राप्त होता है। 

-विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र

श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे।

हे नाथ नारायण वासुदेवा।।

इस मंत्र का जाप श्री कृष्ण की स्तुति के लिए किया जाता है। बता दें कि इस मंत्र को कृष्ण जन्माष्टमी और श्री कृष्ण की पूजा के समय जरूर किया जाता है। ये मंत्र मन को शांति तो देता ही है, साथ ही समस्त दुखों का नाश करता है।