केंद्रीय अंतरिक्ष मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) ने गुरुवार को लोकसभा में बताया कि चंद्रमा पर Chandrayaan-3 भारत के मिशन का अगला चरण चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) अगस्त 2022 के लिए निर्धारित है। इसके साथ ही अंतरिक्ष विभाग (space department) ने इस साल 19 मिशनों की योजना बनाई है। अंतरिक्ष विभाग ने लिखित जवाब में कहा कि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) मिशन से मिली सीख और विशेषज्ञों के सुझावों के आधार पर चंद्रयान-3 पर काम चल रहा है।

सिंह (Jitendra Singh) ने कहा कि जनवरी से दिसंबर 2022 के दौरान कुल 19 मिशनों की योजना बनाई गई है, जिनमें आठ लॉन्च व्हीकल मिशन, सात अंतरिक्ष यान मिशन और चार प्रौद्योगिकी प्रदर्शक मिशन शामिल हैं। वहीं सिंह ने कहा कि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) से मिली सीख और राष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञों द्वारा दिए गए सुझावों के आधार पर, चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) पर काम प्रगति पर है। कई संबंधित हार्डवेयर और उनके विशेष परीक्षण सफलतापूर्वक पूरे हो गए हैं और लॉन्च अगस्त 2022 के लिए निर्धारित है।

उन्होंने बताया कि अंतरिक्ष क्षेत्र के सुधारों और नए पेश किए गए मांग-संचालित मॉडल की पृष्ठभूमि में परियोजनाओं की प्राथमिकता तय की गई है। चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) मिशन को 2021 में लॉन्च किया जाना था, लेकिन महामारी की वजह से इसमें देरी हुई है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण चल रहे कई मिशन प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा, अंतरिक्ष क्षेत्र के सुधारों और नए पेश किए गए मांग संचालित मॉडल की पृष्ठभूमि में परियोजनाओं का पुनर्मूल्यांकन हुआ है।