नई दिल्ली। इस बार 16 मई 2022 को चंद्र ग्रहण लग रहा है। यह ग्रहण ज्योतिष की दृष्टि से अहम माना जा रहा है। चंद्र ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में शुभ खगोलीय घटना नहीं माना जाता है। चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा पीड़ित हो जाता है। चंद्र ग्रहण का प्रभाव मनुष्य पर सबसे अधिक पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्रमा को एक जलीय ग्रह माना गया है। इसके साथ ही इसे मन का कारक भी कहा गया है। चंद्रमा के घटने बढ़ने की स्थिति का भी मनुष्य पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। ऐसा कहा जाता है कि सभी प्रकार के तरल पदार्थ चंद्रमा के अधीन हैं। चंद्रमा को पश्चिम दिशा का स्वामी बताया गया है। इसके साथ ही चंद्रमा कर्क राशि में उच्च और वृश्विक राशि में नीच का माना जाता है। इस बार का चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में लगने जा रहा है, यही कारण है ये कुछ राशि वालों के लिए विशेष होने जा रहा है।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने लाओस स्थित अगरवुड निवेशकों से की मुलाकात

वृषभ

चंद्र ग्रहण के बाद आपके जीवन में कुछ समय के लिए उथल-पुथल की स्थिति बन सकती है। जॉब, बिजनेस और करियर के क्षेत्र में कुछ रुकावट महसूस कर सकते हैं। धन संबंधी मामलों में भी मनचाहा लाभ प्राप्त करने की संभावना कम रहेगी। सेहत पर भी ध्यान देना होगा। यदि पहले से किसी बीमारी से पीड़ित हैं, तो उसे गंभीरता से लें और इलाज में किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें।

कन्या

नजदीकी संबंधों में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बड़े भाई-बहनों से संबंध मधुर रखने की कोशिश करें। धन की बचत को लेकर किए गए सभी प्रयायों में नकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। ये स्थिति आपके दांपत्य जीवन को प्रभावित कर सकती है। मानसिक तनाव और अज्ञात भय के कारण आत्मविश्वास में भी कमी आ सकती है। प्रेम संबंधों में भी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। धैर्य और संयम बरतने की आवश्यकता है।

वृश्चिक

चंद्र ग्रहण आपकी राशि में लग रहा है। इसलिए ग्रहण का सबसे अधिक प्रभाव आपकी ही राशि पर होने जा रहा है। इस दौरान कुछ कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। प्रतिद्वंदी आपको परेशान कर सकते हैं। आपके लाभ को भी प्रभावित कर सकते हैं। छवि को लेकर भी सावधानी बरतने की जरूरत है। जो लोग नियमों का पालन नहीं करते हैं, अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं ऐसे लोगों से बचने की जरूरत है। भ्रम की स्थिति भी बन सकती है। इसलिए कोई भी निर्णय लेने से पहले अच्छे ढंग से उसकी पड़ताल अवश्यक कर लें। जीवनसाथी की सलाह काम आ सकती है। 

यह भी पढ़ें : बंगलादेश मुक्ति जोधाओं ने शिलॉन्ग में ईएसी मुख्यालय का किया दौरा, जानिए क्या है वजह

चंद्र ग्रहण के उपाय

इस बार चंद्र ग्रहण 16 मई 2022 को है और इस दिन सोमवार है। सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है। इस दिन भोलेनाथ की पूजा करने और श्वेत चीजों का दान करने से चंद्र ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचा जा सकता है।