झारखंड के चाईबासा जिले में नक्सलियों के खिलाफ चलाये गये विशेष अभियान के दौरान प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट आफ इंडिया (पीएलएफआई) के उग्रवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ में नक्सली साहित्य समेत अन्य सामान बरामद किया गया है।


पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा ने आज यहां बताया कि पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप और जोनल कमांडर जिदन गुड़िया के दस्ते के गुदड़ी-बंदगांव सीमा के कामरोड़ा-जतरमा क्षेत्र में घूमने की सूचना मिली थी। इसी आधार पर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम मौके पर पहुंची। सुरक्षा बलों को देखते ही नक्सलियों ने फायङ्क्षरग शुरू कर दी।


नक्सलियों की फायरिंग का संयुक्त टीम ने करारा जवाब दिया। माहथा ने बताया कि दोनों तरफ से लगभग आधे घंटे तक फायरिंग होती रही। सुरक्षाबलों को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल का फायदा उठाते हुए भाग निकले। फायरिंग बंद होने के बाद सुरक्षा बलों की ओर से चलाये गये सर्च अभियान में जंगल से चार बाइक, 105 कारतूस, पांच स्मार्ट फोन, 15 की-पैड फोन, 16 सीमकार्ड, फोन चार्जर, पावरबैंक, दवाइयां और दैनिक उपयोग की सामग्री, ड्राई फ्रूट्स के पैकेट, पीएलएफआई लेवी वसूलने के पर्चे, नक्सली साहित्य, मैगजीन कवर आदि बरामद किया है।


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ऑपरेशन में चक्रधरपुर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नाथू सिंह मीणा और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बदल (सीआरपीएफ) 60 बटालियन के पदाधिकारी राजू डी नायक भी शामिल हैं।