महज एक साल के अंदर कांग्रेस ने 2 राज्यों में अपनी सत्ता खो दी, पिछले साल मध्य प्रदेश में और अब पुडुचेरी में। इत्तेफाक से दोनों ही सरकारें विधायकों के इस्तीफे के बाद अल्पमत में आने के कारण गिरीं।

पुडुचेरी के हालिया घटनाक्रम के बाद कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार उनकी चुनी हुई राज्य सरकारों को गिराने के लिए राष्ट्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। पुडुचेरी कांग्रेस के प्रभारी दिनेश गुंडु राव ने कहा, ‘‘भाजपा शासित केंद्र सरकार ने सीबीआई, इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट, ईडी जैसी एजेंसियों का उपयोग कर हमारे विधायकों को धमकाया, उन्हें ब्लैकमेल किया।’’

इतना ही नहीं पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि करोड़ों रुपये देकर भाजपा ने विधायकों की खरीद-फरोख्त की। गुंडू राव ने आगे कहा, ‘‘वे जानते हैं कि हमारी सरकार ने केंद्र के असहयोग के बावजूद लोगों के लिए काम किया। भाजपा ने अपनी माफिया राजनीति से चुनी हुई सरकार को अस्थिर किया है। ऐसा उन्होंने भारत के कई राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश आदि में किया है। भाजपा लोकतंत्र का सम्मान नहीं करती है।’’

बता दें कि पुडुचेरी में सोमवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले ही कांग्रेस नीत सरकार के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा था, ‘‘पुडुचेरी में जो हो रहा है वह राजनीतिक वेश्यावृत्ति है। लेकिन सच्चाई की जीत होगी।’’ वहीं कांग्रेस नेता और पूर्व महासचिव बी.के. हरिप्रसाद ने कहा था कि ‘‘जिन राज्यों में भाजपा को चुनाव में बहुमत नहीं मिला है, उन राज्यों में वह सरकारें गिरा रही है।’’