कोरोना के कहर के बीच कोरोना टीकाकरण किया जा रहा है। कोरोना टीकाकरण में कोवैक्सीन काम में ली जा रही है। अभी लोगों को वैक्सीन का पहला ही डोज मिला है और दूसरा डोज मिलना अभी बाकी है। देश में लाखों आबादी को अभी तक कोरोना वैक्सीन का  पहल डोज भी नहीं मिला है क्योंकि डोज सप्लाई नहीं हो रहे हैं। वैक्सीन की सप्लाई पर अब सियासी घमासान छिड़ गया है।

 
लोगों को वैक्सीन की जरूरत हैं और वैक्सीन की सप्लाई नहीं की जा रही है। कोरोना टीकाकरण अभियान के बीच टीकों की कमी को लेकर आज दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला है। सिसोदिया ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के निर्देश पर ही दिल्ली को मिलने वाली कोवैक्सीन की डोज की सप्लाई रोक दी गई है।


प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिसोदिया ने कहा कि “दिल्ली सरकार ने 1 करोड़ 34 लाख वैक्सीन की डिमांड की थी और 67 लाख कोविशील्ड और 67 लाख कोवैक्सीन मांगी थी, लेकिन भारत बायोटेक की तरफ से कल हमें चिट्ठी लिखकर बताया गया कि वे हमें वैक्सीन नहीं दे सकते है ”। दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा कि “केंद्र सरकार को बताना चाहिए कि अगर वैक्सीन विदेशों में नहीं भेजी गई होती, तो दिल्ली और मुंबई के लोगों को दो-दो बार वैक्सीन लगाई जा चुकी होती ”।