कोरोना वायरस के देश मे की अलग अलग तरह के नए वेरिएंट देखे जा रहे हैं। इसके कारण कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना की रफ्तार वैसे तो कम देखने को मिल रही है  लेकिन इससे होने वाली मौतों के आंकड़ों में गिरावट नहीं देखी जा रही है। कोरोना ने देश में आतंक तो मचा ही रखा है अब साथ ही तकनीकि चीजों पर भी तहलका होने जा रहा है। क्योंकि भारत सरकार ने सोशल मीडिया कंपनियों से कोरोना के भारतीय वेरिएंट के संदर्भ वाले सभी कंटेंट को अपने प्लेटफॉर्म से हटाने का आदेश दिया है।


बता दें कि भारत के सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्रालय ने सभी सोशल मीडिया कंपनियों को पत्र लिखकर ऐसी सभी सामग्री को हटाने के आदेश दिए हैं, जो भी सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के भारतीय वेरिएंट के संदर्भ में हो। कोरोना को लेकर गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। आईटी मंत्रालय ने कहा कि स्वा स्य्ल   मंत्रालय ने 12 मई को ही इस बारे में स्थिति स्पहष्टआ कर दी थी।

मंत्रालय ने कहा है कि सोशल मीडिया कंपनियां ऐसा हर वो कंटेंट हटा दें जिसमें कोरोना वायरस के इंडियन वेरिएंट का जिक्र हो, संदर्भ हो या उसका अर्थ भी निकलता हो। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 11 मई को कहा था कि पिछले साल भारत में पहली बार पहचाने गए कोरोना वायरस के वेरिएंट बी.1.617 को वैश्विक चिंता के एक प्रकार के रूप में वर्गीकृत किया गया था। इस पर एक्शन लेते हुए भारत सरकार ने एक दिन बाद बयान जारी कर कहा कि भारतीय वेरिएंट शब्द का उपयोग करने वाली मीडिया रिपोर्ट बिना किसी आधार के जारी की गई थी।