कोरोना संक्रमण के कारण सीबीएसई (CBSE 10th board Exam) 10वीं और 12वीं बोर्ड (CBSE 12th board exam) की परीक्षा दो चरण में आयोजित की जा रही है। पहले चरण की परीक्षा का शेड्यूल 18 अक्टूबर को जारी किया जाएगा। 18 अक्टूबर को पहले चरण की परीक्षा की डेट शीट घोषित कर दी जाएगी। सीबीएसई टर्म 1 के बोर्ड एग्जाम का शैड्यूल (CBSE Term 1 Board Exam Schedule) 18 अक्टूबर को जारी होगा।

बोर्ड परीक्षा के छात्रों को 20 मिनट का रीडिंग टाइम दिया जाएगा। पहले यह समय 15 मिनट का था। इन परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) होंगे। पहले सत्र में सीबीएसई प्रश्नपत्र (CBSE question paper) और मूल्यांकन की योजना स्कूलों को भेजेगा। पहले चरण की यह बोर्ड परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर, 2021 में आयोजित की जा रही हैं। बोर्ड परीक्षा की अवधि 90 मिनट होगी। मार्च अप्रैल में दूसरे चरण की परीक्षा के बाद फाइनल परिणाम जारी किया जाएगा। परीक्षा में ओएमआर शीट भरने के लिए पैन का प्रयोग करना होगा, पेंसिल का प्रयोग मान्य नहीं है।

सीबीएसई 10वीं (CBSE 10th board Exam) एवं 12वीं  (CBSE 12th board exam) कक्षा का सिलेबस पहले ही दो हिस्सों में बांटा जा चुका है। सीबीएसई के शिक्षा निदेशक जोसेफ इमैनुएल द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, पहले टर्म की परीक्षा नवंबर-दिसंबर, 2021 में होगी जबकि दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल, 2022 में होगी। वहीं 10वीं कक्षा के 20 अंकों के आंतरिक मूल्यांकन को दस-दस अंकों में विभाजित किया जाएगा। वहीं 12वीं कक्षा के लिए इसे 15- 15 अंकों के दो हिस्सों में बांटा जा रहा है। सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक 10वीं कक्षा का 20 अंक का इंटरनल असेसमेंट, 10-10 अंकों के दो चरण में विभाजित किया गया है। 12वीं कक्षा के लिए प्रैक्टिकल और इंटरनल असेसमेंट को 15-15 अंकों के दो चरण में विभाजित किया गया है। 12वीं कक्षा के लिए कुल 30 अंक का प्रैक्टिकल 15-15 अंकों के दो चरण में लिया जाएगा। 

छात्रों की सुविधा को देखते हुए सीबीएसई प्रथम चरण की परीक्षाओं के लिए देश भर के छात्रों के हेतू एक लचीला कार्यक्रम लेकर आएगा। पहले चरण की बोर्ड परीक्षा 8 सप्ताह के लंबे शेड्यूल में ली जा सकती हैं। कोरोना संक्रमण के कारण यदि सीबीएसई बोर्ड (2 में से) किसी एक सत्र की परीक्षा नहीं ले सका तो भी अगले साल बोर्ड कक्षाओं का परिणाम सही समय पर घोषित किया जा सकेगा। ऐस स्थित में आधे पाठ्यक्रम के आधार पर हुई परीक्षाओं और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट घोषित किया जा सकता है।