कोरोना वायरस संक्रमण के चलते स्‍थगित हुई CBSE-ICSE बोर्ड परीक्षाओं पर फैसला लेने के लिए आज केंद्रीय मंत्रियों की उच्‍च स्‍तरीय बैठक हुई। बैठक की अध्‍यक्षता रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने की तथा रमेश पोखरियाल निशंक समेत अन्‍य केंद्रीय मंत्री शामिल रहें। जानकारी मिली है कि CBSE बोर्ड परीक्षाओं की डेट्स की आधिकारिक घोषणा शिक्षामंत्री 01 जून को करेंगे।

मंत्रियों की बैठक के अनुसार परीक्षाएं रद्द नहीं की जाएंगी बल्कि जुलाई में आयोजित की जाएंगी। पिछले वर्ष भी बोर्ड परीक्षाएं जुलाई में कोरोना प्रोटोकाल के साथ आयोजित की गई थीं। परीक्षाएं किस फॉर्मेट में होंगी, कब होंगी और कैसे होंगी, इसकी जानकारी शिक्षा मंत्री निशंक 01 जून को देंगे।

केंद्रीय मंत्रियों की आज हुई बैठक में दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्‍ली सरकार किसी भी तरह की परीक्षा आयोजित करने के पक्ष में नहीं है। उन्‍होंने कहा कि बोर्ड द्वारा दिए गए दोनो ऑप्‍शंस उन्‍हें ठीक नहीं लगे। 12वीं के छात्रों को पिछले रिकार्ड के आधार पर ही पास किया जाए। उन्‍होंने कहा कि देश को कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी दी जा चुकी है, और इसमें बच्‍चे सबसे ज्‍यादा प्रभावित होंगे। ऐसे में हमें एक अभिभावक की तरह सोचना चाहिए और परीक्षा रद्द कर दी जानी चाहिए।

संभव है कि बोर्ड केवल महत्‍वपूर्ण सब्‍जेक्‍ट्स के लिए बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करे. इस प्‍लान के अनुसार परीक्षाएं कम समय में पूरी हो सकेंगी और समय से रिजल्‍ट जारी किया जा सकेगा। लगभग 20 सब्‍जेक्‍ट्स ऐसे हैं जिनके लिए एग्‍जाम आयोजित कराए जा सकते हैं। इसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित, जीव विज्ञान, इतिहास, राजनीति विज्ञान, बिजनेस स्‍टडीज, अकाउंट्स, भूगोल, अर्थशास्त्र और अंग्रेजी शामिल हैं।

बोर्ड परीक्षाओं के साथ ही NTA NEET, JEE Main 2021 तथा अन्‍य एंट्रेस एग्‍जाम्स पर भी आज ही फैसला संभव है। बैठक में कोरोना सावधानियों पर विचार किया जा सकता है ताकि एग्‍जाम सेंटर कोरोना हॉटस्‍पॉट न बन जाएं। परीक्षाएं जून-जुलाई में आयोजित की जा सकती हैं।

छात्र लंबे समय से बोर्ड से एग्‍जाम रद्द करने की मांग उठा रहे हैं। छात्रों का कहना है कि महामारी के समय में परीक्षा आयोजित करने से छात्रों को संक्रमण का खतरा है और वर्तमान परिस्थितियों में छात्र मानसिक रूप से भी परीक्षा के लिए तैयार नहीं हैं।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट करके जानकारी दी कि केंद्र सरकार रविवार को सभी राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के शिक्षा मंत्रियों, शिक्षा सचिव, स्टेट बोर्ड्स के अध्यक्ष एवं संबंधिक अधिकारियों के साथ हाईलेवल मीटिंग करने जा रही है।