पत्रकार सुदीप दत्ता भौमिक की हत्या मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तार त्रिपुरा स्टेट राइफल्स की तीसरी बटालियन के सहायक कमान्डेंट स्वरूपानंद विश्वास को त्रिपुरा पुलिस सर्विस की हिरासत में रखे जाने की मांग को लेकर गुरुवार को अदालत में याचिका दाखिल की।

पुलिस ने विश्वास को बुधवार रात गिरफ्तार किया था और उसे वेस्ट अगरतला थाने में रखा गया है। सीबीआई संबंधित मामले की विस्तृत जांच के लिए आरोपी को कोलकाता ले जाने की प्रक्रिया में है।


आपको बता दें कि 21 नवंबर, 2017 को अगरतला से 18 किलोमीटर दूर वेस्ट त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट के आर.के.नगर स्थित त्रिपुरा स्टेट राइफल्स सेकैंड बटालियन के हेडक्वाटर्स में भौमिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड को उस समय जांच कर रही एसआईटी ने कहा था कि भौमिक की हत्या सुनियोजित साजिश के तहत की गई थी।


सुदीप दत्ता भौमिक ने टीआरएस कमांडेंट तपन देबबर्मा के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार व अन्य आरोपों को लेकर 11 न्यूज आर्टिकल्स लिखे थे। उन्होंने इन खुलासों को रोकने के लिए भौमिक की नृशंस हत्या की। यह आरोप श्यानदन पत्रिका के संपादक सुबल कुमार डे ने लगाया था। समाचार पत्र ने 20 सतंबर के अपने एडिशन में भौमिक का आरोपी कमांडेंट पर एक आर्टिकल छपा था।


बता दें कि भौमिक त्रिपुरा के क्षेत्रीय भाषा के समाचार पत्र श्यानदन पत्रिका में सीनियर क्राइम रिपोर्टर थे। रियांग बटालियन कमांडेंट तपन देबबर्मा का बॉडीगार्ड है,जो त्रिपुरा पुलिस सर्विस(टीपीएस) के 1998 बैच के वरिष्ठ अधिकारी हैं। भौमिक देबबर्मा से मिलने बटालियन हेडक्वाटर्स गए थे। प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया ने हत्या पर स्वत: संज्ञान लेते हुए त्रिपुरा सरकार से रिपोर्ट मांगी है। 20 सितंबर, 2017 को 28 वर्षीय टीवी पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या की गई थी।