हरियाली तीज और उससे एक दिन पूर्व बाजार में मेहंदी लगाने वाले युवकों की चेकिंग करने वाले क्रांति सेना कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने मेहंदी का ठेला लगाने वाले एक अस्थाई दुकानदार की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की है।

 क्रांति सेना के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने हरियाली तीज पर कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करते हुए मेहंदी लगाने वाले युवकों की चेकिंग की। उन्होंने चेतावनी दी थी कि दूसरे पक्ष के युवक अगर महिलाओं को मेहंदी लगाते मिले तो उन्हें अंजाम भुगतना होगा।

शिवचौक निवासी प्रकाश चंद का कहना है कि वह जानसठ रोड पर पुलिया के पास मेहंदी का ठेला लगाए हुए खड़ा था। इसी बीच क्रांति सेना के नेता वहां पहुंचे और उसे कहने लगे कि उसे किसने यहां खड़ा होने की इजाजत दी है। उसने बताया तीज के चलते यहां आकर मेहंदी का ठेला लगा रहा है। 

इस पर क्रांति सेना के पदाधिकारी बिगड़ गए और उसके ठेले का सामान खुर्दबुर्द कर दिया। पुलिस ने उसकी तहरीर पर मनोज सैनी, अमित बॉबी, भुवन मिश्रा, योगेन्द्र शर्मा, राजेश कश्यप, पूनम अग्रवाल, आशीष, रोकी, अमित कश्यप, शैलेन्द्र शर्मा, मोहित त्यागी व 25 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। इस संबंध में कुछ लोगों ने विरोध करते हुए यूपी पुलिस व मुख्यमंत्री को ट्वीट करते हुए कार्रवाई की मांग की थी। 

उधर, क्रांति सेना के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं पर रिपोर्ट दर्ज के मामले में गुरुवार को क्रांति सेना के प्रकाश चौक स्थित कार्यालय पर बैठक की गई। क्रांति सेना के पदाधिकारियों ने कहा कि पुलिस अधिकारियों ने सत्ताधारी नेताओं के दबाव में आकर क्रांति सेना के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।