ऑनलाइन ऑटो क्‍लासिफाइड प्‍लेटफॉर्म CarTrade Tech का आईपीओ 9 अगस्त को लॉन्च हो रहा है। इस इश्‍यू के जरिए कंपनी 2000 करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी में है। CarTrade उपभोक्ताओं को नई और पुरानी दोनों तरह की कार खरीदनें की सुविधा देता है। इसमें अमेरिकन प्राइवेट इक्विटी निवेशक Warburg Pincus, सिंगापुर की सरकारी निवेशक कंपनी Temasek, जेपी मॉर्गन और मार्च कैपिटल पार्टनर का निवेश है।

कंपनी की वित्तीय स्थिति पर नजर डालें तो वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का रेवेन्यू 281.52 करोड़ रुपये रहा था जो कि वित्त वर्ष 2020 में 318.44 करोड़ रुपये पर रहा था। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का मुनाफा 101.07 करोड़ रुपये रहा था जो कि वित्त वर्ष 2020 में 31.29 करोड़ रुपये पर रहा था।

यह आईपीओ पूरी तरीके से ऑफर फॉर सेल आधारित होगा। जिसके तहत वर्तमान शेयरधारकों और प्रमोटरों द्वारा 1.85 करोड़ शेयरों की बिक्री की जाएगी। इस आईपीओ में सीएमडीबी II (16.07 लाख इक्विटी शेयर), हाईडेल इनवेस्टइमेंट लि. (53.79 लाख शेयर), मैक्रीटची इनवेस्टमेंट पीटीई लि. (35.68 लाख शेयर), स्प्रिंगफील्ड वेंचर इंटरनेशनल (11.24 लाख शेयर) और बीना विनोद सांघी (1.83 लाख शेयर) जैसे निवेशक शामिल हैं।

कंपनी ने आईपीओ के लिए एक्सिस कैपिटल, सिटिग्रुप ग्‍लोबल मार्केट्स इंडिया, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी और नोमूरा फाइनेंशियल एडवाइइजरी एंड सिक्‍युरिटीज प्राइवेट लिमिटेड को इन्‍वेस्‍टमेंट बैंकर नियुक्‍त किया है।

कार ट्रेड की स्‍थापना 2009 में हुई थी। CarTrade के फाउंडर और CEO विनय सांघी हैं। यह 2000 से 2009 तक महिंद्रा फर्स्ट च्वाइस व्हील्स के CEO थे। कारट्रेड प्‍लेटफॉर्म के जरिए कंस्‍टमर्स अपनी यूस्‍ड या नई कार खरीद और बेच सकते हैं। कारट्रेड के पास एक मल्‍टीचैनल ऑटो प्‍लेटफॉर्म है, जिसमें सभी तरह की व्‍हीकल और वैल्‍यू एडेड सर्विसेस शामिल हैं। इस प्‍लेटाफॉर्म में कारवाले, कार ट्रेड, श्रीराम ऑटोमाल, बाइकवाले, कार ट्रेड एक्‍सचेंज, एकरॉयट ऑटो और ऑटोबिज शामिल हैं।