पंजाब में आज शाम 5 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक होनी है।  इस बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर अजय माकन और हरीश रावत भी मौजूद रहेंगे।  बैठक से पहले पंजाब कांग्रेस में हलचल बहुत तेज है।  

कहा जा रहा है कि इस मीटिंग में अमरिंदर सिंह के खिलाफ विपक्षी गुट द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी है।  सूत्रों का कहना है कि  अमरिंदर सिंह ने ऐसे हालातों के बीच आलाकमान को खुलकर कह दिया है कि अगर उन्हें अपमानित किया जाएगा तो पार्टी छोड़ देंगे। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, कैप्टन अमरिंदर सिंह के पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के जरिए कांग्रेस आलाकमान को संदेश भिजवाया है कि अगर उन्हें इसी तरह से अपमानित किया गया तो पार्टी से इस्तीफा दे देंगे।  

आपको बता दें कि पंजाब में कांग्रेस विधायकों की बैठक कैप्टन विरोधी गुट द्वारा लिखी गई चिट्ठी के बाद बुलाई गई है।  कहा जा रहा है कि अमरिंदर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए बागी गुट तमाम विधायकों से पिछले कई दिनों से संपर्क में है। 

एक तरफ जहां कैप्टन विरोधी विधायकों से संपर्क कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ कई विधायक सीएम अमरिंदर सिंह के भी संपर्क में हैं।  सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कैप्टन अमरिंदर सिंह ने CLP की मीटिंग से पहले दोपहर 2 बजे अपने कैंप के विधायकों की मीटिंग बुलाई है।  इन विधायकों ने हर हाल में कैप्टन का साथ देने का वादा किया है। 

सूत्रों ने बताया कि विधायकों ने कैप्टन से बोला है कि अगर वोटिंग की नौबत आई तो भी वो कैप्टन का साथ देंगे और यदि किसी ने दवाब बनाया तो सरकार में संवैधानिक संकट खड़ा हो सकता है।  आपको बता दें कि कैप्टन विरोधी धड़ा भी आज आर पार के मूड में दिखाई दे रहा है और कई दिनों से लगातार विधायकों से सम्पर्क बना रहे है।