असम के तिनसुखिया जिले के मारग्रेटिया में पढऩे वाली 12 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के विरोध में तेजपुर यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने कैंडल मार्च निकाला। छात्रा के साथ एक बौद्ध पुजारी ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। घटना तीन अगस्त की बतायी जा रही है।

घटना के विरोध में तेजपुर यूनिवर्सिटी के 3000 छात्रों ने कैंडिल मार्च निकाल कर दोषी को कठोर से कठोर सजा देने की मांग की। गौरतलब है कि जगन लुखला गांव के पीडि़ता और उसका भाई नमंदाग पूजा करने गये थे। इस दौरान आरोपी पुजारी ने भाई को मार्केट भेज दिया और बहन के साथ दुष्कर्म किया।

 

इस घटना के विरोध में तेजपुर यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने कैंडल मार्च निकालने का निर्णय लिया। वे अपने हाथों में तख्तियां और कैंडल लिए हुए थे। छात्रों ने घटना की त्वरित जांच और दोषियों के खिलाफ  कठोर कार्रवाई की मांग की। घटना के खिलाफ  पिटीशन भी साइन करवाया जा रहा है, जिसे प्रधानमंत्री और राज्य के मुख्यमंत्री को भेजा जायेगा।