टोरंटो। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Canadian Prime Minister Justin Trudeau) ने कहा कि यूक्रेन (Ukraine) में जारी रूसी सैन्य अभियान (Russian military campaign) के बीच वहां अपनी सेना नहीं भेजेंगे। प्रधानमंत्री ट्रूडो ने कहा, 'यह स्पष्ट है, हम अपनी सेना यूक्रेन नहीं भेज रहे हैं।'

उल्लेखनीय है कि रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई करने की घोषणा किया था। हलांकि रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि यह कार्रवाई पूरी तरह से यूक्रेनी सैन्य बुनियादी ढांचे को नष्ट करना है, इससे नागरिक प्रभावित नहीं होंगे। 

यह भी पढ़ें- Mahashivratri पर जरूर करें चार पहर की पूजा, जानिए मुहूर्त और पूजन विधि

तुर्की ने युद्धपोतों के गुजरने पर लगाई रोक 

तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत कावुसोग्लु (Turkish Foreign Minister Mevlut Cavusoglu) ने कहा कि उन्होंने सभी तटीय व गैर-तटीय देशों को चेतावनी दी है कि वह अपने जलसंधि क्षेत्र से किसी भी युद्धपोतों को गुजरने की अनुमति नहीं देंगे। 

अनादोलु एजेंसी ने विदेश मंत्री कावुसोग्लू के हवाले से कहा, 'हमने सभी तटवर्ती और गैर-तटवर्ती देशों को युद्धपोतों को जलसंधि से होकर नहीं जाने की चेतावनी दी है। अभी तक जलसंधि से गुजरने का कोई अनुरोध नहीं किया गया है।'

यह भी पढ़ें- जीप इंडिया ने लॉन्च की धांसू नई कंपास ट्रेलहॉक एसयूवी, देखने में है दमदार

उल्लेखनीय है कि मॉन्ट्रो समझौता 1936 में अपनाया गया था। यह शांति और युद्ध दोनों समय में व्यापारी जहाजों के लिए जलसंधि/जलडमरूमध्य से गुजरने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करता है, लेकिन देश के अनुसार नियम भिन्न हो सकते हैं। 

यह समझौता गैर-काला सागर राज्यों के युद्धपोतों के काला सागर में रहने की अवधि को तीन सप्ताह तक सीमित करता है। आपातकालीन स्थितियों में, तुर्की को बोस्पोरस और डार्डानेल्स के माध्यम से सैन्य जहाजों के गुजरने पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार है।