दुनियाभर के देशों में कोरोना वैक्सीन लगाने का अभियान युद्ध स्तर पर चल रहा है। हर देश में एक ही वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा रही हैं, लेकिन कनाडा में अब कोरोना की मिक्स कोरोना वैक्सीन लगाई जा सकेगी। 

 

कनाडा के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना टीकाकरण के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है। जिसके अनुसार बेहतर सुरक्षा के लिए दो अलग-अलग टीकों की खुराक ली जा सकती है। गौरतलब है कि इससे पहले जर्मनी में इसकी शुरुआत हुई थी, जिसके परिणाम सकारात्मक आए हैं। गाइडलाइंस में कहा गया है कि भारत में बनी कोविशील्ड की एक खुराक ली है तो दूसरी मॉडर्ना या फाइजर की ली जा सकती है।

कनाडा की टीकाकरण पर बनी राष्ट्रीय सलाहकार समिति (एनएसीआई) ने नई गाइडलाइंस जारी की है। एनएसीआई ने कहा कि एमआरएनए टीकों को तब तक प्राथमिकता दी जानी चाहिए जब तक कि उससे एलर्जी या कोई अन्य तकलीफ न हो। यदि पहली खुराक एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड की ली गई है तो दूसरी फाइजर-बायोनटेक या मॉडर्ना की ली जा सकती है। जर्मनी में किए गए अध्ययन में सुझाव दिया गया है कि इस तरह से टीकाकरण करने के बेहतर प्रतिरक्षा तंत्र तैयार होता है।