कैडबरी चॉकलेट का प्रत्येक उत्पाद जो भारत में बेचा जाता है वह पूरी तरह शाकाहारी है और इसका प्रमाण उत्पादों के पैकेट पर बना हरा निशान है।  यह स्पष्टीकरण कैडबरी की ओर से तब दिया गया जब एक स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया में वायरल हो गया, जिसमें यह दावा किया जा रहा कि कैडबरी के उत्पाद में जिलेटिन मौजूद होता है। 

कैडबरी ने कहा है कि हम अपने कुछ उत्पाद में जिलेटिन का प्रयोग करते हैं लेकिन वह उत्पाद भारत में नहीं बेचा जाता है।  कैडबरी ने उपभोक्ताओं से कहा कि वे इस स्क्रीनशॉट को शेयर करने से पहले सच जान लें।  कैडबरी ने कहा है कि नकारात्मक प्रचार से उनकी छवि बिगड़ती है।  साथ ही ऐसे प्रचार से ग्राहकों का हमपर से विश्वास भी डिगता है। 

कैडबरी की पैरेंट कंपनी मोंडेलेज़ इंटरनेशनल ने यह जवाब तब दिया जब ट्विटर पर कैडबरी प्रोडक्ट को बॉयकॉट करने की मुहिम सी छिड़ गयी थी।  यह स्क्रीनशॉट एक वेबसाइट का था जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि कैडबरी के उत्पाद में जिलेटिन डाला जाता है, जो बीफ से प्राप्त किया जाता है।  इस स्क्रीन शॉट के वायरस होने बाद कई यूजर्स ने मांग की कि कैडबरी को सजा दी जाये और क्योंकि उसने लोगों की धार्मिक भावनाओं से भी खेला है।  पैकिंग के ऊपर ग्रीन डॉट बनाकर उसने अपने उत्पाद को शाकाहारी बताकर उसमें जिलेटिन मिलाया जो धोखा है। 

क्या है जिलेटिन

जिलेटिन पशुओं से प्राप्त किया जाता है।  यह एक प्रकार का प्रोटीन है जिसे पशुओं के हड्डियों और रेशेदार ऊतकों से प्राप्त किया है।  यह स्वादहीन और गंधहीन होता है इसका प्रयोग खाद्य पदार्थों में किया जाता है।