देश की चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए आज वोटिंग हो रही है। ये चार विधानसभा सीट छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा, केरल की पाला, त्रिपुरा की बाधरघाट और उत्तर प्रदेश की हमीरपुर विधानसभा सीट है। इन सीटों पर चुनाव कराने की घोषणा 25 अगस्त को की गई थी। इन चार सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे 27 सितंबर को आएंगे। बता दें कि बीजेपी विधायक अशोक चंदेल को अयोग्य ठहराए जाने के बाद हमीरपुर सीट खाली हुई थी। वहीं दंतेवाड़ा, पाला और बाधरघाट की सीट पर विधायक रहे नेताओं की मौत/हत्या के बाद चुनाव हो रहा है। दंतेवाड़ा की सीट पर 2018 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के भीमा मंडावी ने जीत दर्ज की थी। इसी साल 9 अप्रैल को नक्सलियों ने मंडावी को बम ब्लास्ट में हत्या कर दी थी। इस हमले में चार पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।

बता दें कि त्रिपुरा में बदहरघाट विधानसभा सीट के लिए कांग्रेस के रत्न दास को भाजपा की मिली मजूमदार टक्कर देंगी। कांग्रेस ने जहां दास पर अपना भरोसा जताया है वहीं भाजपा ने मजूमदार पर दांव खेला है। कांग्रेस ने एक बयान में कहा था कि कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने त्रिपुरा के बदहरघाट (अनुसूचित जाति) विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशी के तौर पर रत्न दास की उम्मीदवारी को मंजूरी दे दी है।


साल 2018 में हुए त्रिपुरा विधानसभा के चुनाव में दास को शिकस्त का सामना करना पड़ा था। वह तीसरे पायदान पर आए थे। इस सीट से विधायक दिलीप सरकार का इस साल अप्रैल में निधन हो गया था, जिस वजह से उपचुनाव कराया जा रहा है। सरकार (62) लंबे वक्त से बीमार थे। वह इस सीट से पांच बार विधायक रहे थे। वह राज्य में मंत्री भी रहे थे। बता दें कि साल 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने शानदार जीत दर्ज की थी। इस चुनाव में भाजपा को 36, भाजपा की सहयोगी पार्टी आईपीएफटी को 8 और वाम दल को 16 सीटें हासिल हुई थी। इस चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा था। कांग्रेस ने 59 सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन एक सीट भी हासिल नहीं कर पाई थी।