त्रिपुरा में एक नाबालिग किशोरी से करीब डेढ़ महीने तक दुष्कर्म करने के बाद एक युवक और उसकी मां ने उसे जिंदा जला दिया। बताया जाता है कि युवक ने किशोरी से शादी के नाम पर दहेज भी लिया था। इस मामले में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब का अबतक कोई बयान नहीं आया है।


त्रिपुरा के सरकारी अस्पताल गोविंद वल्लभ पंत मेडिकल कॉलेज में नाबालिग की मौत के बाद शनिवार को पुलिस ने आरोपी अजॉय रुद्र पॉल (25) और उसकी मां अनिमा रुद्र पॉल (59) को गिरफ्तार कर लिया।


पीड़िता के पिता के बयान का हवाला देते हुए पुलिस ने कहा कि अजॉय उनकी बेटी को 28 अक्टूबर को खोवाई जिले के कल्याणपुर स्थित घर से अगवा कर दक्षिणी त्रिपुरा स्थित शांतिर बाजार में अपने घर ले गया था।


11 दिसंबर को शादी के लिए हामी भर दी थी

पुलिस ने कहा, 'अजॉय ने लड़की से दुष्कर्म करने के बाद उससे शादी करने के लिए पांच लाख रुपये दहेज के तौर पर मांगे थे। पीडि़ता के परिवार के दबाव के चलते अजॉय ने शुक्रवार को दहेज की पहली किश्त मिलने के बाद उससे 11 दिसंबर को शादी करने के लिए हामी भर दी। लेकिन अजॉय और उसकी मां के बीच दहेज को लेकर बहस हो गई और उसके बाद पीडि़ता पर केरोसिन डालकर उसे आग लगा दिया गया।'


पीड़िता के गुस्साए परिवार और पड़ोसियों ने अस्पताल में उसकी मौत होने के बाद अजॉय और उसकी मां को अस्पताल में घेर लिया। पुलिस ने कहा, 'हम घटना की जांच कर रहे हैं। पीडि़ता की मौत से पहले उसका बयान दर्ज कर लिया गया था।'