प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रचार 21 राज्यों में 33 हजार किलोमीटर बाइक चलाकर करने वाली बुलेट रानी राजलक्ष्मी मंदा एक ट्रक में 9 टन वजनी शिवलिंग को लेकर घूम रही है। बुलेट रानी राजलक्ष्मी ने बताया कि धर्म की रक्षा करने के लिए उनकी 25 सदस्य टीम ने 1 मार्च को महाशिवरात्रि के मौके पर एक संकल्प लिया था। इसी संकल्प के तहत उन्होंने एक ट्रक में 9 फीट ऊंची और 9 टन वजनी शिवलिंग की प्रतिमा के साथ भगवान शिव के परिवार को रखकर उन्हें सभी ज्योतिर्लिंग के दर्शन कराने के बाद भदोही उत्तर प्रदेश में स्थापित करने बीड़ा उठाया।

यह भी पढ़ें : फिर उलझ सकता है सीमा विवाद, मेघालय में रहना चाहते हैं जयंतिया हिल्स जिले के 26 गांव

बुलेट रानी का कहना है कि धर्म की रक्षा करने का मैसेज देते हुए उनकी टीम फलाहरी बाबा के नेतृत्व में लीगल राइट काउंसिल ऑफ इंडिया की ओर से 9500 किलोमीटर का सफर कर रही है। ट्रक में शिव परिवार को लेकर 12 ज्योतिर्लिंग का दर्शन करने के बाद सुंदरवन भदोही में उनकी प्रतिष्ठा कराई जानी है। शिव परिवार को ट्रक में लेकर खुद ट्रक चलाकर वो अब तक 9 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कर चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का बड़ा कदम, मेघालय में 40 पवित्र उपवनों पर 2 करोड़ खर्च

उनका कहना है कि अभी 3 ज्योतिर्लिंग के दर्शन बाकी है। जिनके दर्शन करने के बाद सुंदरवन भदोही में प्रतिष्ठा कराई जाएगी। 25 सदस्यीय दल के साथ धर्म की रक्षा करने का मैसेज लेकर निकली बुलेट रानी राजलक्ष्मी मंदा 1 साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर साड़े 9 टन वजनी ट्रक को अपने हाथों से खींचकर चर्चा में आ चुकी हैं। उन्होंने बताया कि 48 दिन बाद उनकी यात्रा पूरी हो जाएगी। जिसके बाद सुंदरबन भदोही में बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। धौलपुर पहुंचने पर जिले के लोगों ने भगवान शिव की पूजा-अर्चना कर उनका आशीर्वाद भी लिया।