राज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी के अभिभाषण से विधानसभा का बजट सत्र मंगलवार से शुरू हो रहा है। यह सत्र 6 फरवरी से 6 अप्रैल तक चलेगा। हालांकि सरकारी सदन की कार्यवाही 25 दिन ही होगी।

विधानसभा सचिवालय द्वारा जारी सत्र कैलेंडर के अनुसार मंगलवार को राज्यपाल अपना अभिभाषण रखेंगे। इसके बाद अध्यक्ष हितेंद्रनाथ गोस्वामी बजट सत्र पर कार्य सलाहकार समिति की रिपोर्ट पेश करेंगे।


सत्र के पहले दिन ही कई विधेयक, रिपोर्ट, अध्यादेश सहित शहरी विकास विभाग और अबकारी विभाग के दो संशोधित विधेयक सदन के पटल पर रखे जाएंगे। इसके अलावा विगत वित्तीय वर्ष 2017-18 के विभिन्न विभागों की पूरक मांगों की सूची भी दाखिल की जाएगी।

7,8,9 और 12 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण पर सदन में बहस होगी। वित्त मंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा 12 मार्च को सदन में वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए साल भर का बजट पेश करेंगे।

विधानसभा के अगले सत्र में डिजिटल बजट पेश किया जाएगा। इस बार सभी सदस्यों को बजट डिजिटल मोड में दिए जाएंगे। विधायकों को उनके टैबलेट पीसी में देने की अध्यक्ष हितेंद्रनाथ गोस्वामी की अध्यक्षता में आयोजित रूल्स कमेटी की बैठक में यह फैसला किया गया था। इसके बाद 13,15,19,20,21,22,और 23 फरवरी के बाद सीधे मार्च महीने की 12,13 ,14,15,26,27,28 और 29 मार्च तथा अप्रैल महीने की 2,3,4,5,और 6 तारीख को सत्र की कार्यवाही होगी।

26 और 27 फरवरी को सत्र की कार्यवाही नहीं होगी पर इन दो दिनों में न्यू एमएलए हॉस्टल में विधायकों तथा रिसोर्स पर्सन के बीच चर्चा होगी। 20 फरवरी को असम विनियोजन(नंबर 1) विधेयक, 2018 पर चर्चा के बाद इस पारित कर लिया जाएगा। सत्र के अंतिम दिन यानी 6 अप्रैल को विधानसभा अध्यक्ष अनिश्चितकाल के लिए सदन स्थगन की घोषणा करेंगे।