वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ((Finance Minister Nirmala Sitharaman) ) ने बजट संसद में पेश कर दिया। लोक सभा में उनका बजट भाषण (Budget 2022 Live Updates) समाप्त होते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने उठकर शानदार बजट पेश करने के लिए वित्त मंत्री को बधाई दी। कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा सांसदों ने भी आगे बढक़र वित्त मंत्री को बधाई दी।

वहीं बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने कहा, भारत का वेतनभोगी वर्ग और मध्यम वर्ग महामारी के समय में राहत की उम्मीद कर रहा था। वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री ने उन्हें प्रत्यक्ष कर उपायों को लेकर फिर से निराश किया है। यह यह भारत के वेतनभोगी वर्ग और मध्यम वर्ग के साथ विश्वासघात है। कांग्रेस नेता गौरव गोगोई (Gaurav Gogoi) ने कहा, बजट ने पीएम मोदी के बड़े व्यापारिक मित्रों के हितों पर ध्यान केंद्रित किया है। इसने बेरोजगारी और मुद्रास्फीति की समस्याओं को नहीं सुलझाया है। यह बजट केवल असमानता को बढ़ाएगा और हमारी आबादी के सबसे बड़े वर्ग को कमजोर कर देगा।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश (Congress leader Jairam Ramesh) ने ट्वीट किया, एक तरफ, बजट जलवायु कार्रवाई और पर्यावरण की रक्षा की बात करता है। दूसरी ओर, यह पारिस्थितिक रूप से विनाशकारी नदी-जोडऩे वाली परियोजनाओं को आगे बढ़ाता है। बयानबाजी अच्छी लगती है, लेकिन कार्रवाई अधिक मायने रखती है। उस मोर्चे पर मोदी सरकार विनाशकारी रास्ते पर है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने केंद्रीय बजट 2022-2023 को शून्य बजट करार देते हुए कहा है कि इसमें आम लोगों के लिए कुछ भी नहीं है और यह एक पेगासस प्रभावित बजट है। बनर्जी ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मंगलवार को ट््वीट किया, बेरोजगारी और महंगाई की मार झेल रहे आम लोगों के लिए यह शून्य बजट है। सरकार बड़ी लड़ाई हार चुकी है। यह पेगासस प्रभावित बजट है। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज संसद के दोनों सदनों में वित्त वर्ष 2022-23 के लिए आम बजट पेश किया।