भारत-चीन सीमा पर बीआरओ सड़क निर्माण के लिए प्लास्टिक का इस्तेमाल करेगा। इसकी जानकारी बीआरओ के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने दी।


उन्होंने बताया कि प्लास्टिक अपशिष्ट से बनी सामग्री का इस्तेमाल कर इस प्रायोगिक परियोजना को शुरू करने के लिए हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा राज्यों में छह सड़कों की पहचान की गयी है।


त्रिपुरा की सीमा बांग्लादेश से लगती है जबकि पांच अन्य राज्य चीन से सीमा साझा करते हैं।


उन्होंने कहा, 'यह (प्रायोगिक परियोजना) प्लास्टिक के कचरे का पर्यावरण के अनुकूल निस्तारण सुनिश्चित करेगा, जो वस्तुत: प्रमुख चिंता का विषय बना हुआ है।'