राजनीतिक गलियारों में कब क्या हो जाए किसी को पता नहीं है। इसी तरह हैरान कर देने वाली खबर बिहार के सियासी गलियारों से आई है। जहां राघोपुर प्रखंड क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों की गलियों और मोहल्लों की दीवारों पर तेजस्वी यादव और पशुपति कुमार पारस के लापता होने के पोस्टर लगए जा रहे हैं। पोस्टर में राघोपुर के विधायक और प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और हाजीपुर के सांसद पशुपति कुमार पारस के लापता होने पर 51,000 का इनाम भी रखा है।
 


बताया जा रहा है कि इन नेताओं पर आक्रोशित ग्रामीणों ने लापता बताया है। जिनके घरों पर पोस्टर लगे हैं, वे बता नहीं पा रहे हैं कि इसे कब लगाया गया है। बता दें कि पोस्टर में लिखा गया है कि चुनाव जीतने के बाद दोनों माननीय अपने-अपने क्षेत्र से लापता हो गए हैं। कोरोना महामारी में जिन लोगों ने इनको कुर्सी पर बिठाया है उनका हाल-चाल भी नहीं पूछ रहे हैं। यह दोनों नेता लापता हो गए हैं।


जनता इन दोनों नेताओं को खोज रही है। जिन भाइयों को ये दोनों माननीय मिल जाएं, उन्हें 51,000 रुपये दिया जाएंगे। कहीं भी मिले तो जानकारी दें। स्थानिय लोगों ने बताया कि हम लोगों के घर में बाढ़ का पानी कई बार आ चुका है। कोरोना महामारी के बीच स्थिति खराब है, ऐसे समय में कोई भी नेता हालातों का मुआयना नहीं करने आता है। वोट मांगते समय तो रोज आते हैं और वादे करते हैं लेकिन जरूरत के टाइम पर दूर दूर तक नजर नहीं आते हैं।