केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक आगामी बोर्ड परीक्षा, जेईई मेन, नीट सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं पर आज बड़ा फैसला लिया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय मीटिंग हुई है, जिसमें केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी शामिल रहे। कक्षा 12वीं के 174 विषयों में से केवल 20 मुख्य विषयों की ही परीक्षा ली जाएगी।


इसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स, बायोलॉजी, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, बिजनेस स्टडीज, अकाउंट्स, जियोग्राफी, इकोनॉमिक्स और इंग्लिश आदि विषय शामिल हैं। इन मुख्य विषयों में प्राप्त अंकों के आधार पर अन्य विषयों का परिणाम तैयार किया जाएगा। 


90 मिनट में हल करन होगा प्रश्नपत्र

विषयों की परीक्षा लेने में तीन घंटे की बजाए केवल 90 मिनट की परीक्षा हो और पेपर में वैकल्पिक और छोटे प्रश्न पूछे जाएंगे ताकि विद्यार्थी को प्रश्न पत्र हल करने में ज्यादा समय नहीं देना पड़े और वह जल्दी परीक्षा केंद्र से बाहर जा पाए।


घर बैठे दे सकेंगे बोर्ड परीक्ष

छत्तीसगढ़ बोर्ड ने फैसला किया है कि 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 1 जून से आयोजित की जाएंगी। इसके लिए राज्य शिक्षा मंत्री ने अनोखा तरीका निकाला है। विद्यार्थियों को प्रश्नपत्र और आंसरशीट दिए जाएंगे और उन्हें घर बैठे कक्षा बारहवीं की परीक्षा दे सकते हैं। रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, शिक्षा मंत्रालय के अधीन स्कूल शिक्षा विभाग की सचिव अनीता करवाल, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा आदि शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव और अध्यक्ष शामिल हैं।