इजरायल की एक हाई सिक्योरिटी जेल में सेंध लग गई है। इस जेल के एक ही सेल में बंद छह फिलिस्तीनी उग्रवादी भाग निकले हैं। पुलिस ने इस बात की सूचना खुद दी है। यह सब तब हुआ जब उस जेल में चारों ओर से सुरक्षा बलों का कड़ा पहरा था। इस घटना के बाद इजरायल में जेल अधिकारियों की लापरवाही भी उजागर हो गई है। घटना के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया, उच्च अधिकारियों द्वारा जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं।

दरअसल, रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना उत्तरी इजरायल में स्थित गिलबो जेल की है। पुलिस ने बताया कि कुल छह कैदी भागे हैं और ये सभी एक ही सेल में कैद थे। इनमें से पांच कैदी इस्लामिक जिहाद आंदोलन से संबंधित थे और एक उसी से जुड़े एक सशस्त्र समूह का पूर्व कमांडर रह चुका है। राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता एली लेवी ने सरकारी रेडियो को बताया कि हमें जेल सेवा से जुड़ी कुछ संदिग्ध रिपोर्ट मिलीं, जिसमें पता चला कि कैदी अपनी सेल से गायब हैं। 

उन्होंने बताया कि जब वहां जाकर देखा गया तो यह सच निकला, वे सभी सेंध लगाकर भाग चुके थे। भागे सभी कैदियों को इजरायली मीडिया ने आतंकवादी समूहों के सदस्यों के रूप में बताया है। पुलिस के आधिकारिक बयान में यह भी बताया गया है कि उनकी तलाश शुरू कर दी गई है। वे अभी पास के वेस्ट बैंक जो इजरायल के कब्जे वाले क्षेत्र में है, वहां तक पहुंचने की कोशिश कर सकते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कैदियों में से एक की पहचान वेस्ट बैंक शहर जेनिन में अल-अक्सा शहीद ब्रिगेड के पूर्व कमांडर जकारिया जुबैदी के रूप में की गई है। यह भी जिक्र किया गया है कि यह वही ब्रिगेड है जिसने 2000 से 2005 के बीच फिलिस्तीनी विद्रोह के दौरान इजरायलियों के खिलाफ घातक हमले किए हैं।

बता दें कि हाल ही में इजरायल और फिलिस्तीन में एक बार फिर संघर्ष देखने को मिला, इसमें चार लोगों की मौत भी हुई थी। फिलिस्तीनी अधिकारियों ने बताया था कि इजरायली सैनिकों ने वेस्ट बैंक में छापेमारी के दौरान फिलिस्तीनी बंदूकधारियों ने फायरिंग की थी। इस क्षेत्र में लड़ाई में चार फिलिस्तीनियों की मौत हो गई। यह सब तब हुआ था जब उत्तरी वेस्ट बैंक के शहर जेनिन में इस महीने की शुरुआत से ही आग भड़की हुई है। यहां इजरायल के साथ लड़ाई में एक व्यक्ति के मारे जाने के बाद से तनाव बहुत अधिक है।